• Hindi News
  • Punjab
  • Bathinda
  • Bathinda News the drug smuggler had already got bail when he came to get the information it was filed he saw and found the body

नशा तस्कर की हो चुकी थी जमानत, लेने आए तो पता चला दाखिल है, आकर देखा तो मिली लाश

Bathinda News - मंगलवार को केंद्रीय जेल बठिंडा में नशा तस्करी मामले में बंद एक हवालाती बलविंदर सिंह निवासी मानसा की संदिग्ध हालत...

Jan 16, 2020, 07:31 AM IST
Bathinda News - the drug smuggler had already got bail when he came to get the information it was filed he saw and found the body
मंगलवार को केंद्रीय जेल बठिंडा में नशा तस्करी मामले में बंद एक हवालाती बलविंदर सिंह निवासी मानसा की संदिग्ध हालत में मौत का मामला रहस्य बना हुआ है। हवालाती की मौत कैसे और किन हालातों में हुई है, फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो पाया है।

बुधवार सुबह ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अगुआई में तीन डाक्टरों के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया और मृतक हवालाती के परिजनों के बयान दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं मृतक हवालाती के रिश्तेदारों का आरोप है कि मंगवार को ही बलविंदर की केस में जमानत हो गई थी जिसके बाद वे उसे लेने के लिए जेल गए थे लेकिन उन्हें वहां जाकर पता चला कि बलविंदर की तबीयत खराब है तथा वो अस्पताल में दाखिल है लेकिन जैसे ही वे अस्पताल पहुंचे उन्हें पता चला बलविंदर की माैत हो चुकी है। उनका कहना है कि बलविंदर सिंह की अचानक हुई मौत संदेह के घेरे में है।

नशे की लत्त से बिखरा परिवार
3 सदस्यीय डाक्टरों के पैनल ने किया मृतक हवालाती का पोस्टमार्टम

हवालाती बलविंदर सिंह नशा करने का आदी था जिस कारण अक्सर उसकी तबीयत खराब हो जाती थी। पता चला है कि वो पिछले कुछ समय से मानसिक तौर पर भी परेशान था। जेल अस्पताल से उसका इलाज भी चल रहा था। सिविल अस्‍पताल में पहुंचे मृतक हवालाती बलविंदर सिंह के जीजा बूटा सिंह व राजा सिंह के मुताबिक बलविंदर सिंह की जमानत के लिए जिला अदालत में याचिका दायर की गई थी तथा मंगलवार को ही उसकी जमानत भी मंजूर हो गई थी। जमानत मिलने के बाद जब परिजन जेल में बलविंदर को रिसीव करने गए तो उन्हें पता चला कि बलविंदर की तबीयत खराब है तथा उसे अस्पताल ले गए हैं जब वे अस्‍पताल गए तो डाक्टरों ने बताया कि बलविंदर की चार घंटे पहले ही हो चुकी है।

जेल प्रशासन पर भी सवाल

ऐसे में सवाल उठता है कि जब हवालाती की मौत पहले हो चुकी थी तो जेल प्रशासन ने परिजनों को जानकारी क्यों नही दी। इतना ही नहीं अगर बलविंदर की तबीयत खराब थी तो समय पर उसका इलाज शुरू क्यों नहीं करवाया गया। जेल प्रशासन व जेल डाक्टर का कहना है कि जिस समय हवालाती को इलाज के लिए सिविल अस्पताल बठिंडा रेफर किया गया उस समय वो जिंदा था, जबकि सिविल अस्पताल के डाक्टरों का कहना है कि अस्पताल लाए गए हवालाती की पहले ही मौत हो चुकी थी। क्योंकि उसका शरीर अकड़ा हुआ था। ऐसा मौत होने के 3 से 4 घंटे के बाद होता है।

10 दिसंबर 2019 को नशा तस्करी का मामला दर्ज किया था

बलविंदर सिंह की नशे की आदत कारण उसकी प|ी करीब 6 साल पहले उसे छोड़कर चली गई थी वहीं 2 साल पहले ही उसके पिता व 1 साल पहले माता की मौत हो गई थी। परिवार के वारिस के तौर पर अब बलविंदर की एक 14 साल की बेटी बची है जो कुशला गांव में अपनी बुआ के पास रह रही है। बलविंदर के पास करीब 6 एकड़ खेती योग्य जमीन है जिस पर वो खेतीबाड़ी करता था। लेकिन परिवार में एक के बाद एक की मौत व प|ी के पास नहीं रहने से रिश्तेदार ही उसमें खेती करते हैं। नशे की लत ने पूरा परिवार बिखेर कर रख दिया। मानसा के थाना झुनीर पुलिस ने 10 दिसंबर 2019 को मृतक हवालाती बलविंदर सिंह (35) पुत्र सुरजीत सिंह वासी अक्कावाली जिला मानसा को नशा तस्करी के आरोप में गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मामला दर्ज किया था। जेल प्रबंधकों के मुताबिक हवालाती बलविंदर सिंह को शुगर की बीमारी होने के कारण उसे इलाज के लिए बीती 30 दिसंबर 2019 को मानसा से बठिंडा केंद्रीय जेल में शिफ्ट किया था।

X
Bathinda News - the drug smuggler had already got bail when he came to get the information it was filed he saw and found the body
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना