• Hindi News
  • Punjab
  • Bathinda
  • Bathinda News the process of joining bpl became easy removed several terms like rs10 thousand monthly income two wheeler and fridge

बीपीएल में शामिल होने की प्रक्रिया हुई आसान, Rs.10 हजार मासिक आय, दोपहिया वाहन व फ्रिज जैसी कई शर्तें हटाईं

Bathinda News - बीपीएल सूची में शामिल होने की प्रक्रिया आसान हो गई है। दोपहिया वाहन, मोबाइल, फ्रिज, 10 हजार रुपए मासिक आय जैसी शर्तों...

Jan 16, 2020, 07:31 AM IST
Bathinda News - the process of joining bpl became easy removed several terms like rs10 thousand monthly income two wheeler and fridge
बीपीएल सूची में शामिल होने की प्रक्रिया आसान हो गई है। दोपहिया वाहन, मोबाइल, फ्रिज, 10 हजार रुपए मासिक आय जैसी शर्तों को हटा दिया गया है। आवेदन करने के लिए फिर से विभाग द्वारा जल्द ही पोर्टल खोल दिया जाएगा। जरूरतमंद व गरीब परिवारों के लिए बीपीएल सूची में शामिल होना सरकार ने पहले से आसान कर दिया है। सबसे बड़ी बाधा बन रही दोपहिया वाहन होने की कंडीशन को सरकार ने खत्म कर दिया है।।

2007 की सूची के अनुसार इस समय 8500 से अधिक परिवार बीपीएल में शामिल, अब और लोग शमिल हो पाएंगे

जिन परिवार की मासिक आय 10 हजार रुपए है, उसे सरकार योजना के लिए पात्र मानेगी। बीपीएल यानी पीले कार्ड के लिए मासिक आय 15 हजार रुपए से अधिक न होने की कंडीशन रखी है। बीपीएल परिवारों के सर्वे में दो पहिया वाहन की कंडीशन हटाने से 50 प्रतिशत आवेदकों को लाभ होगा। अब पहले के मुकाबले दोगुने परिवारों के पीले कार्ड बनेंगे और वे सरकार की योजनाओं का लाभ ले सकेंगे। यहां बता दें कि इससे पहले बीपीएल परिवार के सर्वे के नियमों में मोबाइल और फ्रिज भी था। इसलिए अधिकतर परिवार बीपीएल सूची से बाहर हो जाते थे। 2007 की सूची के अनुसार इस समय 8 हजार 500 से अधिक परिवार बीपीएल योजना में शामिल हैं। जिला फूड सप्लाई अफसर अतिंदर कौर ने कहा कि केंद्र सरकार ने बीपीएल कार्ड को लेकर कुछ शर्तें हटाई है। गरीब व जरूरतमंद लोगों लाभ मिलेगा। अब ज्यादा लोग बीपीएल कार्ड बना सकेंगे। विभाग की ओर से अभी स्मार्ट राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया चल रही, इसके बाद ही शुरू किया जा सकेगा।

ये होती है बीपीएल कार्ड बनाने की प्रक्रिया

पात्र परिवार को ई-दिशा पोर्टल पर ऑनलाइन के साथ एक शपथ-पत्र भी देना होता है। इसमें पात्र परिवार बताता है कि वह बीपीएल कार्ड धारक बनने के सारे नियम पूरे करता है। इसके बाद आवेदन चंडीगढ़ स्थित कार्यालय में जाने के बाद वेरीफिकेशन होती है। उसके बाद संबंधित वार्ड के पार्षद और सरपंच के नेतृत्व में बनी कमेटी अपने लेवल पर पात्र परिवार की जांच करती है। उसके बाद विभाग की ओर से इसकी वेरीफिकेशन होती है। फिर इसको चंडीगढ़ दोबारा भेजा जाता है। फिर एडीसी कार्यालय के जरिए इसकी वेरीफिकेशन होती है और डीसी द्वारा अप्रूवल होने के बाद एडीसी कार्यालय पात्र परिवार का नाम बीपीएल सूची में जारी करता है। फिर खाद्य आपूर्ति विभाग कार्ड जारी करता है।

X
Bathinda News - the process of joining bpl became easy removed several terms like rs10 thousand monthly income two wheeler and fridge
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना