ओवरस्पीड / 120 की स्पीड में क्रूज दूसरी साइड जा तेल टैंकर के नीचे घुसी, तीन दोस्तों की मौत



हादसे में कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जिसे जेसीबी की मदद से कैंटर के नीचे से निकाला गया। हादसे में कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जिसे जेसीबी की मदद से कैंटर के नीचे से निकाला गया।
मनप्रीत ने मलोट के कार बाजार से कार खरीदने के बाद अपने दोस्तों के साथ कुछ दिन पहले कार के साथ फोटो भी क्लिक की थी। मनप्रीत ने मलोट के कार बाजार से कार खरीदने के बाद अपने दोस्तों के साथ कुछ दिन पहले कार के साथ फोटो भी क्लिक की थी।
X
हादसे में कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जिसे जेसीबी की मदद से कैंटर के नीचे से निकाला गया।हादसे में कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जिसे जेसीबी की मदद से कैंटर के नीचे से निकाला गया।
मनप्रीत ने मलोट के कार बाजार से कार खरीदने के बाद अपने दोस्तों के साथ कुछ दिन पहले कार के साथ फोटो भी क्लिक की थी।मनप्रीत ने मलोट के कार बाजार से कार खरीदने के बाद अपने दोस्तों के साथ कुछ दिन पहले कार के साथ फोटो भी क्लिक की थी।

  • मुक्तसर-बठिंडा हाईवे पर टैंकर से टकराई क्रूज
  • एयरबैग खुलने के बावजूद भी कोई नहीं बचा

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 07:08 AM IST

मुक्तसर. मुक्तसर-बठिंडा मुख्य मार्ग पर गांव भलाईआना के पास सड़क हादसे में तीन नौजवानों की मौत हो गई। अपनी क्रूज कार में मुक्तसर से बठिंडा की ओर जा रहे थे तो इनकी कार बठिंडा की ओर से आ रहे तेल टैंकर में जा घुसी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कार जिसे कि मनप्रीत सिंह वासी गांव चैना चला रहा था ने पीछे एक कार को ओवरटेक करने की कोशिश की तो क्रूज कार कंट्रोल से बाहर होते हुए दूसरी साइड से आ रहे तेल के टैंकर के नीचे जा घुसी। हादसा इतना भयानक था कि पूरी कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। 

 

इस दौरान कार चला रहे मनप्रीत सिंह को गंभीर घायल हालत में मुक्तसर के सरकारी अस्पताल भेजा गया, परंतु वह रास्ते में ही दम तोड़ गया, जबकि कार सवार सुखविंदर सिंह सुक्खा पुत्र अंग्रेज सिंह वासी सादा पत्ती जैतो व जशनदीप सिंह पुत्र जगतार सिंह वासी जैतो की सड़क हादसे के दौरान ही मौत हो गई व उनकी लाशें काफी मशक्कत के बाद कार से निकाली गई। कार का काफी हिस्सा तेल टैंकर में आ जाने के कारण जेसीबी से पहले तेल टैंकर को पीछे धकेला गया और फिर कार में फंसी लाशों को निकाला गया।

 

सिर्फ 15 दिन पहले ही खरीदी थी कार : हादसाग्रस्त क्रूज कार मनप्रीत सिंह ने 29 जनवरी को ही मलोट के कार बाजार से खरीदी थी। कार में से मिले इस संबंधी कागजात के अनुसार यह कार मलोट वासी इकबाल सिंह ने गुलवंत सिंह वासी मोगा जोकि मनप्रीत सिंह की मौसी का बेटा है को बेची थी।

 

इसके गवाह सुखदेव सिंह वासी मोगा से जब बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि उस दिन मनप्रीत के पास कागजी कार्रवाई पूरी करने के लिए आधार कार्ड या कोई अन्य पहचान पत्र न होने के कारण उसने इस कार के कागजात गुलवंत सिंह का आधार कार्ड दे उसके नाम पर लिए थे। बुधवार को गांव चैना वासी मनप्रीत अपने दोस्तों को जैतो से साथ लेकर मल्लन, भलाईआना, गिद्दड़बाहा वाया मलोट कार के कागज लेने जा रहा था कि भलाईआना के पास यह भयानक हादसा हो गया। 

 

मुक्तसर से बठिंडा की ओर ही जा रहे अन्य कार चालकों जिन्हें इस कार ने क्रॉस किया के अनुसार कार की स्पीड काफी थी। कार की स्पीड का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हादसे के उपरांत कार के दोनों फ्रंट एयरबैग खुलने के बावजूद भी कोई बचाव नहीं हुआ। हादसे के बाद कार का स्पीड मीटर 120 पर बंद हैं।

COMMENT