विज्ञापन

केंद्रीय विश्वविद्यालय में जैविक विविधता कानून पर दो दिवसीय क्षेत्रीय कार्यशाला शुरू

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 03:15 AM IST

Bhatinda News - बठिंडा| पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में जैविक विविधता कानून पर दो दिवसीय क्षेत्रीय कार्यशाला शुरू हो गई है।...

Bathinda News - two day regional workshop on biological diversity law at central university
  • comment
बठिंडा| पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में जैविक विविधता कानून पर दो दिवसीय क्षेत्रीय कार्यशाला शुरू हो गई है। कार्यशाला का विषय था नागोया प्रोटोकॉल को लागू करने के लिए मानव संसाधन, कानूनी ढांचे और संस्थागत क्षमताओं को मजबूत करना। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी), राष्ट्रीय जैव विविधता प्राधिकरण (एनडीए) और नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी (एनएलएसआईयू), बेंगलुरु के साथ मिलकर यूएनडीपी-जीईएफ (ग्लोबल एबीएस प्रोजेक्ट) के तहत आयोजित किया गया था। उद्घाटन सत्र के दौरान एनएलएसआईयू बंगलुरू से कानून के प्रोफेसर डा. साई राम भट प्रमुख वक्ता थे। कार्यक्रम में पंजीकृत 180 से अधिक प्रतिभागियों में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और अन्य राज्यों के संकाय सदस्य और छात्र शामिल हुए। एसोसिएट डीन, स्कूल ऑफ लीगल स्टडीज एंड गवर्नेंस डॉ तरुण अरोड़ा ने मेहमानों का स्वागत किया और कार्यशाला का विषय प्रस्तुत किया। यह कार्यशाला श्री गुरु नानक देव जी को उनकी 550वीं जयंती पर श्रद्धांजलि है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.कोहली ने देश की समृद्ध जैविक विविधता पर एक संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया। डीन स्टूडेंट वेलफेयर एंड डीन स्कूल ऑफ एनवायर्नमेंट एंड अर्थ साइंसेज प्रो. वी.के. गर्ग ने कहा कि हमारी मातृ पृथ्वी मानव सभ्यता के विकास के साथ अपनी जैव विविधता खो रही है।

डाॅ. साईराम का स्वागत करते सेंट्रल यूनिवर्सिटी के वीसी व फैकल्टी मेंबर्स।

X
Bathinda News - two day regional workshop on biological diversity law at central university
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन