सिविल अस्पताल में उपलब्ध करवाया वेंटीलेटरडॉक्टरों ने सेफ्टी किट प्रदान करने की मांग उठाई

Bathinda News - कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए प्रदेश में हेल्थ सिस्टम खुद ही वेंटीलेटर पर है। हकीकत यह है कि करीब साढ़े 13...

Mar 29, 2020, 07:31 AM IST

कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए प्रदेश में हेल्थ सिस्टम खुद ही वेंटीलेटर पर है। हकीकत यह है कि करीब साढ़े 13 लाख की आबादी वाले बठिंडा जिले के सिविल अस्पताल में वेंटीलेटर की व्यवस्था नहीं है। वहीं जिले के विभिन्न प्राइवेट अस्पतालों करीब 80 वेंटीलेटर ही उपलब्ध हैं। सिविल अस्पताल में वेंटीलेटर की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने पहल शुरू कर दी है और बठिंडा सरकारी अस्पताल में एक वेंटीलेटर की सुविधा प्रदान की है और एक आने वाले कुछ दिनों तक उपलब्ध होने की उम्मीद है। प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण यदि दूसरी और तीसरी स्टेज में पहुंच गया तो उसे कंट्रोल करना मुश्किल होगा। बठिंडा जिले में स्वास्थ्य सेवाओं का यह आलम है कि जिले के किसी भी सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त वेंटीलेटर तक उपलब्ध नहीं हैं। हेल्थ सिस्टम पहले ही विशेषज्ञ डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की कमी से जूझ रहा है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने कई सख्त कदम उठाए हैं। सरकार ने महामारी से बचाने के लिए लोगों को घरों से बाहर न निकलने और सामाजिक दूरी बनाने की सलाह दी जा रही है। स्वास्थ्य सेवाओं को देखते हुए सरकार की सख्ती एक तरफ से वाजिब है। फिलहाल अस्पताल प्रशासन की ओर से कोरोना वायरस की हर स्थिति से निपटने के लिए व्यवस्था की जा रही है।

गंभीर मरीजों को रेफर नहीं करना पड़ेगा

सिविल सर्जन बठिंडा डाॅ. अमरीक सिंह ने बताया कि अस्पताल के विभाग से दो वेंटीलेटर की डिमांड की गई थी। फिलहाल एक वेंटीलेटर की खरीद कर ली गई है। अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के नजदीक एनसीडी वार्ड में वेंटीलेटर स्थापित कर दिया गया है, जबकि दूसरा सप्लाई आने के बाद स्थापित कर दिया जाएगा। अस्पताल में वेंटीलेटर की सुविधा शुरू होने से मरीजों का इलाज करने में आसानी होगी और गंभीर मरीजों को रेफर नहीं करना पड़ेगा। कोरोना की रोकथाम के लिए जिन-जिन मेडिकल उपकरणों की जरूरत है, उनकी व्यवस्था की जा रही है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के इन डॉक्टरों से लें सकते हैं जानकारी

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने जिला प्रशासन के पास प्रस्ताव भेजा है कि कोरोना वायरस के चलते दूसरी अन्य बीमारियों से ग्रस्त मरीजों के लिए उनके 71 डाक्टर मरीजों के टेलीफोन नंबरों पर एडवाइज व मेडिसन की सेवा प्रदान करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बाकायदा डाक्टरों की लिस्ट व संपर्क नंबर भी जारी किए है जिसमें कोई भी मरीज बीमारी का विवरण देकर सलाह हासिल कर सकता है व डाक्टर उसे राहत के लिए ऑनलाइन मेडिसन स्लीप भी उपलब्ध करवा सकते हैं ताकि वह मेडिकल स्टोर से दवा प्राप्त कर राहत हासिल कर सके। आईएमए के जिला प्रधान विकास छाबड़ा ने कहा कि कोरोना वायरस के ग्रस्त मरीजों के अलावा दूसरी बीमारी से ग्रस्त लोगों को फोन पर सेवा देने के लिए आईएमए की टीम तैयार है।

सब्जी -9338100007

पुलिस के लिए

100 नंबर डायल करें

होलसेल केमिस्ट एसोसिएशन ने पुलिस पर लगाया धक्केशाही का आरोप

बठिंडा| बठिंडा होलसेल केमिस्ट एसोसिएशन ने गांधी मार्केट में विरोध प्रदर्शन कर कोरोना वायरस के चलते लगाए कर्फ्यू के दौरान धक्केशाही करने का आरोप लगाया है। एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से मांग की है कि दवाइयों की दुकान खोलने के लिए रखे समय को लेकर उनके साथ बैठक की जाए व पिछले दिनों बिना बिल व मास्क अधिक रेट पर देने का आरोप लगा दायर किए केस को रद्द किया जाए। होलसेल केमिस्ट एसोसिएशन के प्रधान अरुण सिंगला ने कहा कि वह प्रशासन के साथ हर तरह का सहयोग करने के लिए तैयार है लेकिन प्रशासन कई मामलों में उनके साथ धक्केशाही कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले दिनों प्रशासन ने एक आदेश जारी किया है कि केमिस्टों की दुकान सुबह सात से 9 बजे तक खोली जाए जबकि इस आदेश से पहले किसी भी दुकानदार के साथ प्रशासन ने न तो किसी तरह की बैठक की और न ही कोई सलाह ली गई। वर्तमान में तय समय में शहर के लोगों को तो दवाई दे रहे हैं लेकिन अधिकतर लोग दूर दराज के गांवों से उनके पास दवाई लेने आते हैं क्योंकि कई साल्ट व दवाइयां ग्रामीण इलाकों में स्थित छोटे मेडिकल स्टोर में नहीं मिलते हैं। कर्फ्यू लगने के कारण दुकानों में भीड़ अधिक रहती है व कई लोग तय समय में दवाई से वंचित रह जाते हैं। यही नहीं प्रशासन ने घर-घर दवाई देने का काम शुरू करवाया है लेकिन इस दौरान उनके पास वाहनों में तेल डलवाने के लिए कोई भी पेट्रोल पंप उपलब्ध नहीं रहता है। यही नहीं जब वह दवाइयां देने जाते हैं तो रास्तों में कई जगहों पर लगे पुलिस नाकों में उन्हें रोका जाता है व उनकी तलाशी भी ली जाती है। इन तमाम समस्याओं को लेकर वह प्रशासन से बात करना चाहते हैं लेकिन उन्हें किसी तरह का सहयोग नहीं मिल रहा है। वर्तमान में प्रशासन का यही व्यवहार रहा तो दवाई विक्रेता अपनी दुकानेें बंद कर आंदोलन करने पर मजबूर होंगे, वही अपनी दुकानों की चाबियां प्रशासन को सौंप देंगे। इस मौके पर सुरिंदर कुमार व दूसरे पदाधिकारियों ने जिला प्रशासन ने इस समस्या का सार्थक हल निकालने की मांग की है।

आटे का स्टॉक खत्म कालाबाजारी जोरों पर

बठिंडा|शहर में कर्फ्यू की वजह से रोजमर्रा की जरूरतें पूरा करने में जहां प्रशासन, सत्ताधारी दल व समाजसेवी संस्थाएं दिन रात जुटी हुई हैं, वहीं शहर में करियाणा स्टोर बंद होने के चलते शहर में बाकी चीजों के मुकाबले आटे की भारी कमी बताई जा रही है। आलम यह है कि शहर में करीब 5 हजार जरूरतमंदों को खाना खिलाने का काम कर रहे सोशल ग्रुपों को भी आटे की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। आलम यह है कि शहर में इस समय आटे की कालाबाजारी जोर पकड़ चुकी है तथा जरूरतमंद लोग 25 रुपए किलो का आटा 35 रुपए तक खरीदने को मजबूर हैं। अधिकारियों ने कहा कि मीटिंग में वित्तमंत्री के समक्ष यह मुद्दा उठा था तथा अगले एक से दो दिन में चुनिंदा फ्लोर मिलों को चलने की मंजूरी मिल सकती हैं। वहीं होलसेल करियाणा मर्चेंट्स ने कहा कि अगर आटा स्टॉक नहीं जोड़ा गया तो शहर में अगले एक से दो दिनों में यह पूरा समाप्त हो सकता है।

विधायक रूबी ने सेहत व पुलिस मुलाजिमों को दिए 1 हजार मास्क

बठिंडा|विधायक रूपिंदर कौर रूबी ने हालातों के मद्देनजर बठिंडा देहाती के तमाम पुलिस थाना व सरकारी अस्पतालों में 1000 से ज्यादा मास्क भेजे गए हैं। आप वालंटियर के सहयोग से अन्य सामान भेजने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। प्रो. रूबी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस के प्रतिदिन नए केस सामने आ रहे हैं लेकिन मरीजों की जांच कर रहे सेहत विभाग के मेडिकल व पैरा मेडिकल स्टाफ के पास एन 95 मास्क, सेनेटाइजर तथा पीपीई किट की बहुत कमी है जिस कारण सेहत विभाग के मुलाजिमों को भी खतरा है। सेहत कर्मियों व पुलिस मुलाजिमों की सुरक्षा के लिए उच्च क्वालिटी के मास्क अथवा किट उपलब्ध कराना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से लाखों रुपए की ग्रांट जारी करने के दावे किए जा रहे हैं लेकिन देहाती क्षेत्रों में मुलाजिमों को सप्लाई नहीं मिल रही। बठिंडा देहाती इलाके में लोगों के राशन व दवाएं न मिलने के फोन आ रहे है। संगत मंडी, गोनियाना में केमिस्ट शॉप नियमानुसार खोले जा रहे हैं, वहीं गांव के हेल्थ वर्कर से संपर्क करके दवाएं हासिल की जा सकती हैं। उन्होंने कोरोना संकट से बचाव को 24 घंटे लोक सेवा में मुस्तैद पुलिस, सेहत विभाग व प्रशासनिक अधिकारियों की प्रशंसा की है। देश संकट में गुजर रहा है, पंजाब में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ना चिंताजनक है, ऐसे में मोर्चा संभाल रहे सेहत कर्मी, पुलिस एवं अन्य विभाग के मुलाजिमों की सेवा मिसाल है।

घर जाने के चक्कर में दांव पर जिंदगी

दूध -7986374065 9781800354 9878324019 8591504838

स्वास्थ्य के लिए...104

सिविल सर्जन- 98768-60155 और एसएमओ नंबर 98783-42123 एंबुलेंस के लिए 108

दवा - 98780 01451

ये नंबर करेंगे आपकी मदद

अधिकतर मरीज खांसी, जुकाम व बुखार से पीड़ित

सिविल अस्पताल में इन दिनों अधिकतर मरीज खांसी, जुकाम व बुखार से पीड़ित पहुंच रहे हैं। इसमें तैनात डाक्टर उनकी ट्रेवलिंग हिस्ट्री व संपर्क की जानकारी हासिल कर उन्हें दवाई देकर घर भेज रहे है। वही जिन लोगों की हिस्ट्री में विदेशों से आए लोगों से संपर्क की जानकारी मिल रही है उन्हें दवाई के साथ 14 दिनों तक घरों में स्वयं को अन्य परिजनों से अलग रहने की हिदायत देकर भेजा जा रहा है। वही ऑब्जरवेशन के दौरान अगर किसी की तबीयत में ज्यादा सुधार नहीं आ रहा है तो उनके सैंपल लिए जा रहे हैं व जांच के बाद रिपोर्ट का इंतजार किया जाता है। फिलहाल बठिंडा जिले में कोई भी कोरोना वायरस से ग्रस्त मरीज की पुष्टि नहीं हुई है।

सूची में शामिल डाक्टर : डा. अतिन गुप्ता- 98880-79279, डा. अमित तनेजा 92162-39099, डा. परमिंदर बांसल 98153-90405, डा. रविंदर महेश्वरी 98786-88541, डा. वितुल गुप्ता 94170-20903, डा. अशोक गोयल 93562-00009, डा. राकेंद्र सिंह 73550-00009, डा. आनंद बांसल 98142-24863, डा. आयुष मक्कड़ 99883-17590, डा. अंजू बांसल 87288-40999, डा. मंजीत जौडा 97812-00365, डा. भुपिंदर कुमार बांसल 94172-00222, डा. रमन गर्ग 98887-03800, डा. ज्योति भल्ला 84473-58403, डा. शाम लाल ठुकराल 75893-02104, डा. आशा गोयल 98037-93700, डा. दलजीत कुमार बख्शी 98153-66444, डा. एसके तिवारी 98885-01606, डा. पूरव मिड्ढा 91156-03944, डा. इंदरवीर कालड़ा 94780-02737, डा. ग्रेस बुद्धिराजा 99888-54178, डा. रोहित गोयल 97797-15010, डा. खुशी गुप्ता 99884-51-500, डा. जेएस सरां 95010-70718, डा. एनके सिंगला 94171-05842, डा. एमएस गिल 94171-18604, डा. अनिल सिंगला 98147-33802, डा. मोहित गर्ग 98680-30269, डा. मनीष गुप्ता 99881-45533, डा. अजय गुप्ता 98159-89366, डा. अश्वनी ग्रोवर 84273-40088, डा. अभिषेक कुमार 99885-59490


बठिंडा के सिविल अस्पताल में संदिग्ध कोरोना मरीजों की जांच में जुटी टीम के सदस्यों ने जिला प्रशासन व सेहत विभाग से उन्हें कोरोना वायरस से सुरक्षित रखने के लिए पुख्ता सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाने की मांग रखी है। डाक्टरों व मरीजों के सैंपलों की जांच करने वाले टेक्निकल स्टाफ का कहना है कि उनके पास वर्तमान में केवल मास्क की सुविधा है जबकि उन्हें कोरोना से बचाव के लिए सेफ्टी कीट की जरूरत है।

जांच में जुटी टीम ने अपनी व परिजनों की सुरक्षा की रखी मांग


}अभी तक जिले में कोरोना वायरस से ग्रस्त मरीज की पुष्टि नहीं हुई है

}आईएम ने ऑनलाइन कंस्लटेशन के लिए 71 डॉक्टरों की लिस्ट भेजी


सिविल अस्पताल इमरजेंसी वार्ड में कोरोना वायरस मरीजों की जांच के लिए व अपनी सुरक्षा कोे उपयुक्त किट की मांग करते डाक्टर।

_photocaption_बठिंडा| शहर में फंसे प्रवासी लोग काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं। शनिवार को बठिंडा मंे फंसे मजदूरों को पुलिस कर्मी अक्षय कुमार ने राजस्थान को जाने बाले ट्रक को रोक कर भेजा। फोटो: अश्वनी काका।*photocaption*

बिजली बंद हाेने पर 1912

70096-65875

प्रशासन से शिकायत**

} निशुल्क राशन और खाने के लिए संस्थाओं के इन नंबरों पर करें संपर्क

बैंगो -9814319792

नौजवान वेलफेयर सोसायटी

9872460007

साथी वेलफेयर सोसायटी

9876132183 9914663001

सहारा जनसेवा

9855133333

शहीद जरनैल सिंह वेलफेयर सोसायटी

9356047222

श्री साईं सेवा दल

9815730556

श्री गणेश वेलफेयर सोसायटी

9855220648

जीवन ज्योति वेलफेयर क्लब

9988398097

समर्पण वेलफेयर सोसायटी

9779845000

नीलकंठ महादेव वेलफेयर सोसायटी

9417181107

आसरा
98157-75239

सोशल वर्कर ग्रुप
98729-93285

हेल्पलाइन**

एनसीडी क्लीनिक में नया वेंटीलेटर स्थापित करते और मौके पर उपस्थित स्टाफ नर्स।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना