• Hindi News
  • Punjab
  • Bathinda
  • Vigilance continued to investigate for 2 years, the jail department promoted the deputy superintendent and placed him in Faridkot Central Jail.

नशा बरामदगी / विजिलेंस 2 साल तक जांच करती रही, जेल विभाग ने डिप्टी सुपरिंटेंडेंट को प्रमोट कर फरीदकोट सेंट्रल जेल भेजा

फरीदकोट सेंट्रल जेल, जहां तैनात असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ का नाम पूरे 2 साल बाद केस में आया है। फरीदकोट सेंट्रल जेल, जहां तैनात असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ का नाम पूरे 2 साल बाद केस में आया है।
X
फरीदकोट सेंट्रल जेल, जहां तैनात असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ का नाम पूरे 2 साल बाद केस में आया है।फरीदकोट सेंट्रल जेल, जहां तैनात असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ का नाम पूरे 2 साल बाद केस में आया है।

  • 2017 में मानसा जेल में कैदियों को मोबाइल, मनपसंद बैरक और नशा करने की छूट देने के एवज में 25 हजार की रिश्वत का मामला
  • विजिलेंस ने डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ को नामजद कर अलमारी की तलाशी ली तो मिले थे नशीली गोलियां, बीड़ी के बंडल और मोबाइल फोन

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2020, 11:20 AM IST

बठिंडा (चंदन ठाकुर). जेल विभाग व विजिलेंस का नया कारनामा सामने आया है, जिसमें जेल विभाग ने भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किए गए मानसा जेल के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट को न केवल बहाल किया, बल्कि फरीदकोट सेंट्रल जेल में सहायक सुपरिंटेंडेंट तैनात कर दिया। विजिलेंस की भी गंभीरता देखिए, भ्रष्टाचार में गिरफ्तारी के बाद आरोपी के दफ्तर की अलमारी से तलाशी के दौरान मोबाइल फोन व नशा बरामद हुआ था, इसके बावजूद विजिलेंस ने दो साल तक केस ही दर्ज नहीं करवाया। अब जाकर जब वह सहायक सुपरिंटेंडेंट फरीदकोट जेल तैनात हो गए तो उन पर मानसा सदर थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया। बहरहाल इस केस में नामजदगी के बाद सहायक सुपरिंटेंडेंट गुरजीत बराड़ छुट्‌टी पर चले गए हैं और पुलिस ने अभी तक इस केस में उनकी गिरफ्तारी भी नहीं की है।

दरअसल, 2017 में मानसा जेल में कैदियों को मोबाइल, मनपसंद बैरक और नशा करने की छूट देने के एवज में 25 हजार की रिश्वत लेने के मामले में जेल सुपरिटेंडेंट दविंदर सिंह रंधावा को विजिलेंस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद विजिलेंस ने डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ को भी केस में नामजद कर उसकी अलमारी की तलाशी के दौरान नशीली गोलियां, बीड़ी के बंडल और मोबाइल फोन बरामद हुए थे। हैरानी की बात तो ये है कि विजिलेंस ने आरोपी डिप्टी सुपरिंटेंडेंट के खिलाफ नशीली गोलियां आदि पाबंदीशुदा सामान मिलने के मामले में केस दर्ज करने के लिए दो साल लगा दिए। वहीं भ्रष्टाचार एक्ट में नामजद डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत बराड़ को डिपार्टमेंट ने बहाल भी कर दिया और उसे सब जेल से सीधा सेंट्रल जेल फरीदकोट में सहायक सुपरिटेंडेंट लगा दिया गया।

ये सब कुछ उस समय हुआ जब डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत बराड़ की अलमारी से नशा बरामद होने की विजिलेंस की ओर से जांच की जा रही थी। विजिलेंस ने 10 जनवरी 2020 को थाना सदर मानसा में आरोपी डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत बराड़ के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट का केस दर्ज करवाया। उधर केस दर्ज होने से पहले ही फरीदकोट जेल में तैनात गुरजीत बराड़ छुट्‌टी चले गए हैं। अधिकारियों का दावा है कि उनकी गिरफ्तारी के लिए रेड की जा रही है।

रिश्वत लेने कैदी संग जेल से बाहर गया था वेलफेयर अफसर, वहीं से खुला मामला
17 दिसंबर 2017 को विजिलेंस ने मानसा जेल के वेलफेयर अफसर सिकंदर और कैदी पवन को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। वे लोग एक अन्य कैदी गौरव के भाई रविंदर से रिश्वत ले रहे थे। उनके कब्जे से 50 हजार की नकदी और 86200 रुपए का चेक बरामद हुआ था। विजिलेंस ने इस मामले में मानसा जेल में कैदियों को मोबाइल, मनपसंद बैरक और नशा करने की छूट देने की एवज में 25 हजार की रिश्वत लेने के मामले में जेल सुपरिटेंडेंट दविंदर सिंह रंधावा गिरफ्तार किया था। इसके बाद जेल डिप्टी सुपरिंटेंडेंट गुरजीत सिंह बराड़ को भी केस में नामजद किया था। कैदी ने खुलासा किया था कि वह रिश्वत के पैसे जेल सुपरिटेंडेंट दविंदर रंधावा और डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत बराड़ को देता था। गुरजीत बराड़ के फरार होने के बाद विजिलेंस ने उसके दफ्तर की अलमारी चेक की तो बीड़ी के 29 बंडल, 97 नशीली गोलियां, 22 मोबाइल व 7 सिम बरामद हुए थे, जिनके बारे में विभाग के रिकार्ड में कोई सूचना दर्ज नहीं थी।

निशानदेही पर बरामद हुआ था नशा, इस लिए जांच में लगा समय


डिप्टी सुपरिटेंडेंट गुरजीत बराड़ की अलमारी से जो दवाइयां मिली थीं वो निशानदेही पर मिली थीं। जिसकी रिपोर्ट उनको देरी से मिली, जिससे थोड़ी देरी हो गई। मैं बाकी की जानकारी आपको केस को देखकर बताता हूं।
वरिंदर बराड़, एसएसपी विजिलेंस
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना