एसआईटी के सामने दूसरी बार भी पेश नहीं हुई विपासना सिंह, मेडिकल भेजा

Bathinda News - पंजाब पुलिस की एसआईटी को मौड़ बम धमाके के डेरे से जुड़े होने के प्रूफ मिले हैं। पुलिस डेरा के लिंक की जांच कर रही है।...

Jan 24, 2020, 07:35 AM IST
Bathinda News - vipasana singh did not appear for the second time in front of sit sent to medical
पंजाब पुलिस की एसआईटी को मौड़ बम धमाके के डेरे से जुड़े होने के प्रूफ मिले हैं। पुलिस डेरा के लिंक की जांच कर रही है। इसी के मद्देनजर एसआईटी ने डेरे की चेयरपर्सन विपासना इंसा को 23 जनवरी को एसआईटी के सामने पेश होने का नोटिस दिया था। लेकिन दूसरी बार भी विपासना एसआईटी के समक्ष पेश नहीं हुई। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार इस बार विपासना ने मेडिकल भेजकर पुलिस की तैयारी पर पानी फेर दिया है।

ऐसे में विपासना से पूछताछ नहीं हो पाई। जिसके बारे में अभी पुलिस द्वारा खुलासा नहीं किया गया है। जिक्रयाेग है कि 30 जनवरी तक एसआईटी को इस मामले में हाईकोर्ट में स्टेटस रिर्पोट सब्मिट करनी है। इससे एक सप्ताह पहले एसआईटी ने विपासना को नोटिस जारी कर 15 जनवरी को पेश होने को कहा था, लेकिन विपासना की बजाय उनके प्रतिनिधि पेश हुए। उन्होंने कहा कि विपासना किसी कारण से पेश नहीं हो पाईं। नई एसआईटी ने फिर 22 जनवरी को दूसरी बार डेरा चेयरपर्सन विपासना सिंह को परवाना भेज 23 जनवरी को एसआईटी के समक्ष बठिंडा में पेश होने को कहा था। उधर मौड़ बम ब्लास्ट हादसे में मारे गए बेकसूर लोगों की आत्मिक शांति के लिए वीरवार को श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के पाठ शुरू करवाए गए। इस मौके अरदास कर दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। 31 जनवरी को श्री विश्वकर्मा भवन मौड़ में पाठ के भोग डाले जाएंगे। इसके उपरांत घटना स्थल पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर श्रद्धासुमन अर्पित किए जाएंगे।

पीड़ित परिवारों को इंसाफ दिलाने के लिए काम कर रही संघर्ष कमेटी मेंबरों ने कहा कि आरोपी हादसे को अंजाम देकर निकल गए। हमले की जानकारी होने के बावजूद सरकार और पुलिस इनके खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने मांग की कि पीड़ित परिवारों की हकी मांगों को पूरा किया जाए नहीं तो संघर्ष तेज किया जाएगा। इस मौके पर संघर्ष कमेटी के मेंबर गुरमेल सिंह ने धमाके की चपेट में आने से मरने वाले लोगों व घायलों के प्रति गहरा दुख जताया। इस दौरान संघर्ष कमेटी की ओर से प्रशासन की ओर से मानी गई मांगों को लेकर विचार विमर्श भी किया।

नौकरी के साथ एक-एक करोड़ और सभी जख्मियों को मुआवजे की मांग

कमेटी की मांग है कि मृतकों के परिवार को सरकारी नौकरी के साथ एक- एक करोड़ और सभी जख्मी व्यक्तियों को मुआवजा दिया जाए। बलदेव सिंह ने कहा कि बंब धमाके के लिए कौन जिम्मेदार है। इस संबंधी बेशक जांच के बाद ही पता चलेगा, लेकिन यह एक सच है कि हादसे में मरने वाले व घायल हुए लोगों का कोई कसूर नहीं था। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि धमाके में मारे गए व घायल हुए लोगों के लिए मुआवजे की अदायगी की जाए।

X
Bathinda News - vipasana singh did not appear for the second time in front of sit sent to medical

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना