भदौड़

  • Home
  • Punjab News
  • Bhadaur News
  • नेचरोपैथी के 21 दिन के इलाज के दौरान छोड़ा स्मैक : विर्क
--Advertisement--

नेचरोपैथी के 21 दिन के इलाज के दौरान छोड़ा स्मैक : विर्क

भदौड़| कुदरती इलाज नेचरोपैथी के बढ़ रहे प्रभाव के कारण दूसरे राज्यों के लोग भी भदौड़ के नेचरोपैथी सेंटर में आकर रोगों...

Danik Bhaskar

Mar 22, 2018, 02:15 AM IST
भदौड़| कुदरती इलाज नेचरोपैथी के बढ़ रहे प्रभाव के कारण दूसरे राज्यों के लोग भी भदौड़ के नेचरोपैथी सेंटर में आकर रोगों का इलाज करवा रहे हैं। डॉ. गुरमेल सिंह विर्क ने बताया के मनोज कुमार व अरुण चंद दोनों हिमाचल प्रदेश के रहने वाले है। दोनों ही चिट्टा-स्मैक पीने के आदी थे और दिन में 3-4 वार नाड में टीके लगाने के आदी थे। इसके अलावा ये दोनों 30 सिगरेट पीने के आदी थे, जिसके कारण इनके होंठ और दांत काले, सर दर्द, हाथ कांपना, गैस, तेजाब, कब्ज, पीलिया, जिगर दर्द, ब्लड प्रेशर, गुर्दों में सुजन, जोड़ों में दर्द से प्रभावित थे। दोनों ही भदौड़ आकर नेचरोपैथी योगा अस्पताल में दाखिल हुए, जिनका बिना मेडिकल दवा से कुदरती इलाज प्रणाली द्वारा 21 दिन में डॉ. मनिंदर सिंह विर्क फिजियोथेरेपी माहिर, डॉ. चंदनदीप कौर विर्क बीएनवाईएस, डॉ. उपिंदर सिंह विर्क की टीम ने फिजियोथेरेपी के साथ इलाज किया गया। जिसके साथ उनके नशे छूट गए है और सभी बीमारी ठीक हो गई हैं।(गुरबिंदर सिंह)

Click to listen..