• Hindi News
  • Punjab
  • Bathinda
  • स्लेज कैरियर टूटा, मोटरें बंद होने से सड़कों पर फैला सीवरेज का पानी
--Advertisement--

स्लेज कैरियर टूटा, मोटरें बंद होने से सड़कों पर फैला सीवरेज का पानी

बठिंडा-मानसा रोड पर बने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) के पास स्थित बठिंडा-दिल्ली रेलवे लाइन के नीचे से गुजरता...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:10 AM IST
स्लेज कैरियर टूटा, मोटरें बंद होने से सड़कों पर फैला सीवरेज का पानी
बठिंडा-मानसा रोड पर बने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) के पास स्थित बठिंडा-दिल्ली रेलवे लाइन के नीचे से गुजरता स्लेज कैरियर (गंदा नाला) टूट गया। इसमें करीब 20 फीट तक बड़ी दरार पड़ गई। स्लेज कैरियर टूटने की सूचना के बाद शहर की करीब 12 प्वांइटों में चलने वाली सभी मोटरों को बंद करना पड़ा जिससे सीवरेज का पानी ओवरफ्लो होकर सड़कों में फैलने लगा। नगर निगम अधिकारियों का दावा है कि स्लेज कैरियर को मरम्मत करने का काम तेजी से चल रहा है व सोमवार की सुबह तक काम पूरा कर पानी छोड़ दिया जाएगा। हालांकि 48 घंटे पहले निगम को रजवाहा से इंडस्ट्री ग्रोथ सेंटर को स्लेज कैरियर के नीचे से जाने वाली वाटर पाइप लाइन में लीकेज की सूचना दे दी गई थी, लेकिन निगम व त्रिवेणी के बीच मरम्मत को लेकर चली कश्मकमश में लीकेज को बंद ही नहीं किया गया। दो घंटा देरी से शुरू हुआ मरम्मत का काम

स्लेज कैरियर रविवार सुबह करीब 9 बजे टूट गया था, लेकिन निगम अधिकारियों को इसकी सूचना करीब 10 बजे तक मिली। हालांकि, सूचना मिलने पर एक्सईएन दविंदर जोड़ा घटनास्थल पर पहुंचे लेकिन साजो सामान व टीम को मौके पर बुलाने में एक घंटा अलग से लग गया।

स्लेज कैरियर टूटने के कारण पावर हाउस रोड पर सीवर का पानी भर गया। फोटो: अश्वनी काका

जानकारी मिलने पर अफसर समझते रहे अप्रैल फूल बनाया जा रहा है

मामले की जानकारी आसपास के लोगों ने निगम व सीवरेज बोर्ड के अधिकारियों को दी लेकिन एक अप्रैल होने के चलते इसे मजाक ही समझ रहे थे। एक्सईएन दविंदर जोड़ा ने बताया कि शनिवार को कुछ अज्ञात लोगों ने सूचना दी थी कि स्लेज कैरियर टूट गया है, जिसके बाद उन्होंने मौके पर आकर जांच भी की थी, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं था। एक अप्रैल होने के कारण अधिकारी यही समझ रहे थे कि कल की तरह आज भी कोई गुमराह कर रहा है, लेकिन जब स्लेज कैरियर की लेबर ने उन्हें सूचना दी अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचने के आदेश दिए।

तीन साल में छह बार टूट चुका है स्लेज कैरियर

स्लेज कैरियर टूटने का मामला यह पहला नहीं है। इससे पहले 17 जनवरी 2017, 16 जून 2017, 30 मई 2016 को भी गांव गहरी बागी से 80 फीट दरार पड़ी थी। उसके बाद 11 जुलाई 2015 को दो जगहों से स्लेज कैरियर टूट गया था। इसके अलावा 22 अगस्त 2015 को बठिंडा-मानसा रोड पर टूटा था।

2 साल पहले जहां से टूटा, वहीं से खिसकी मिट्टी, 3 दिन से पाइप हो रही थी लीक

स्लेज कैरियर टूटने के सही कारणों का पता नहीं चल सका है। स्लेज कैरियर रविवार को वहीं से टूटा है, जहां से करीब दो साल पहले टूटा था। बताया जा रहा है कि जिस जगह से स्लेज कैरियर में दरार पड़ी है, वहां से अंडरग्राउंड वाटर वर्कर्स की पाइप गुजरती है, जोकि बठिंडा-मानसा रोड स्थित ग्रोथ सेंटर वाटर वर्कर्स को पानी की सप्लाई होती है। 3-4 दिन से अंडरग्राउंड पाइप के जोड़ में लीकेज हो रही थी, जिसकी रिपेयर करने के लिए निगम ने त्रिवेणी कंपनी को बोला था। कंपनी ने उक्त काम निगम का होने की बात कहकर करने से इंकार कर दिया था।

X
स्लेज कैरियर टूटा, मोटरें बंद होने से सड़कों पर फैला सीवरेज का पानी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..