• Home
  • Punjab
  • Bathinda
  • ग्रीन सिटी कॉलोनी को निगम के टेकओवर करने को लेकर शिकायत पर सीएम ने दिए जांच के आदेश
--Advertisement--

ग्रीन सिटी कॉलोनी को निगम के टेकओवर करने को लेकर शिकायत पर सीएम ने दिए जांच के आदेश

शहर के माडल टाउन फेस 4-5 के सामने स्थित ग्रीन सिटी कॉलोनी को नगर निगम बठिंडा की तरफ से टेकओवर करने को लेकर एक व्यक्ति...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
शहर के माडल टाउन फेस 4-5 के सामने स्थित ग्रीन सिटी कॉलोनी को नगर निगम बठिंडा की तरफ से टेकओवर करने को लेकर एक व्यक्ति की भेजी शिकायत के बाद मुख्यमंत्री ने स्थानीय निकाय विभाग के प्रमुख सचिव को जांच के आदेश दिए हंै। मुख्यमंत्री दफ्तर के सचिव (जरनल) सुखचरण सिंह की तरफ से जारी पत्र में प्रमुख सचिव को आदेश दिए है कि 13 मार्च को रंजीव कुमार बांसल निवासी आरएसएस वाली गली नई बस्ती बठिंडा की तरफ से मुख्यमंत्री को भेजी गई शिकायत की जांच कर सीधे तौर पर उसे जांच रिपोर्ट व संबंधित कार्रवाई के बारे में सूचित भी किया जाए। बताते चलें कि स्थानीय निकाय विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी ने मामले की जांच निगम कमिश्नर बठिंडा को भेज दी है। यही नहीं बीती 14 मार्च को हुई जनरल हाउस की मीटिंग में प्राइवेट बिल्डर्स की तरफ से बनाई गई ग्रीन सिटी के फेस 1 व 4 को टेकओवर करने के लिए एजेंडा शामिल किया था। हालांकि, मेयर से लेकर निगम कमिश्नर तक इस एजेंडे को पास करवाने के हक में थे, लेकिन मीटिंग में अकाली दल के साथ- साथ कांग्रेसी पार्षदों ने इस एजेंडे को पेडिंग रखने व कमेटी बनाकर जांच के बाद मंजूरी देने के लिए कहा था।

नई बस्ती गली नंबर 6 के निवासी राजीव कुमार बांसल ने 13 मार्च को चीफ जस्टिस पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट, मुख्यमंत्री पंजाब, गर्वनर पंजाब, स्थानीय निकाय मंत्री पंजाब, चीफ सेक्रेटरी पंजाब और चीफ प्रिसिंपल सचिव टू मुख्यमंत्री पंजाब को शिकायत में कहा है कि ग्रीन सिटी पूरी तरह से प्राइवेट कॉलोनी है, जोकि प्राइवेट बिल्डर्स की तरफ से बनाई गई है। कॉलोनाइजर की तरफ से खरीददारों को विभिन्न प्रकार की सुविधा देने के वायदे किए थे, जोकि पूरे नहीं किए है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि कालोनी की एक साइड कैंट एरिया के साथ लगती है, आर्मी ने 1200 गज तक के अंदर निर्माण कार्य पर रोक लगा रखी है।

निगम कमिश्नर से नहीं मिलने दिया


झूठी शिकायतें दे रहा है राजीव