Hindi News »Punjab »Bhatinda» घर-घर शिक्षा की अलख जगाने काे विभाग निकालेगा मशाल मार्च

घर-घर शिक्षा की अलख जगाने काे विभाग निकालेगा मशाल मार्च

हरेक को मिले शिक्षा का अधिकार, कोई न रहे शिक्षा से वंचित नारे के तहत शिक्षा विभाग अब मशाल मार्च से घर-घर में शिक्षा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:15 AM IST

हरेक को मिले शिक्षा का अधिकार, कोई न रहे शिक्षा से वंचित नारे के तहत शिक्षा विभाग अब मशाल मार्च से घर-घर में शिक्षा की अलख जगाएगा और हर बच्चे को सरकारी स्कूल में दाखिल करवाएगा। वहीं अभिभावकों से भी अपने बच्चे स्कूलों में भेजने के लिए प्रेरित करते हुए बीच में पढ़ाई छोड़ने वाले बच्चों को भी अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

ड्राप आउट कम करने तथा सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने को सुनिश्चित करने के साथ-साथ पर्याप्त मानिटरिंग के लिए लिए स्कूल मुखी, बीपीईओ के साथ-साथ डीईओ सेकंडरी-एलिमेंटरी की भी जिम्मेदारी तय की गई है। बच्चों के दाखिला संबंधी समूह डीईओ, बीपीईओ, स्कूल मुखी विशेष कैंपेन चलाकर अभिभावकों से भी बैठक करके बच्चों को स्कूलों में दाखिल करवाने के लिए प्रेरित करेंगे।

स्कूलों में ज्यादा से ज्यादा दाखिला संबंधी धार्मिक स्थलों पर सुबह-शाम स्पीकरों से अनाउंसमेंट करना, फ्लेक्स लगाना, पम्फलेट बांटना, अध्यापकों द्वारा घर-घर जाकर मुहिम तथा चौपालों में प्रचार किया जाना है। स्कूल मुखी इस बात पर विशेष ध्यान देंगे कि कोई भी बच्चा स्कूल में दाखिल होने से वंचित न रहे तथा बच्चों का दाखिला स्कूल के अंदर करना यकीनी बनाया जाए।

मशाल मार्च के स्वागत के लिए डीईओ करेंगे तालमेल

इन शहरों में घूमेगा मशाल मार्च

पंजाब सरकार की ओर से इस बार दाखिला संबंधी जोर-शोर से मुहिम चलाई जा रही है। इसके मद्देनजर 5 फरवरी से हर जिले में मशाल मार्च निकाला जाएगा। मशाल मार्च 5 फरवरी को सुबह 10 बजे फतेहगढ़ साहिब से शुरू होगा जोकि 6 फरवरी को पटियाला, 7 को संगरूर, 8 को बरनाला, 9 को मानसा, 12 को बठिंडा, 13 फरवरी को श्री मुक्तसर, 15 फरवरी को फाजिल्का, 16 को फरीदकोट, 17 को फिरोजपुर, 19 को मोगा, 20 को लुधियाना, 21 को जालंधर, 22 को कपूरथला, 23 को तरनतारन, 24 को अमृतसर, 26 को गुरदासपुर, 27 को पठानकोट, 28 को होशियारपुर, 1 मार्च को एसबीएस नगर, 3 मार्च को रूपनगर तथा 5 मार्च को एसएसए नगर में मशाल मार्च का समापन होगा।

डीईओ एलिमेंटरी व सेकंडरी, डाइट प्रिंसिपल, बीपीईओ तथा पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब टीमें अपने जिले में मशाल मार्च को स्वागत करने का स्थल तथा समापन स्थल निश्चित करके आपसी तालमेल करेंगे। समूह टीम काफिला के रूप में अपने जिले में मशाल मार्च को आगे बढ़ाते हुए दूसरे जिले को मशाल सत्कार सहित सौंपेंगे। डीईओ सेकंडरी व एलिमेंटरी मशाल मार्च को गांव-गांव तक लेकर जाएंगे तथा पूर्ण जिम्मेदारी से सतकार सहित मशाल को अगले जिले के लिए निर्धारित तारीख के अनुसार सौंपेंगे ताकि जिले में अपनी पूर्ण तैयारी सहित मशाल मार्च कर सकें। मशाल मार्च का मुख्य आकर्षण बच्चों के दाखिला संबंधी अभिभावकों को चेतन करना है ताकि सरकारी स्कूलों में बच्चों का दाखिला बढ़ सके। मशाल मार्च को काफिले के रूप में लाते समय आवाजाही-सड़क के नियमों का पालन करना जरूरी होगा।

विद्यार्थियों के दाखिले की डीईओ करेंगे मॉनिटरिंग

डीईओ सेकंेडरी व एलिमेंटरी विद्यार्थियों के दाखिला संबंधी बाकायदा लगातार मॉनिटरिंग करेंगे तथा विद्यार्थियों का दाखिला अगली कक्षा में होना यकीनी बनाएंगे। डीईओ एलिमेंटरी व सेकंडरी के साथ-साथ स्कूल मुखी इस बात को यकीन बनाएंगे कि पांचवीं कक्षा में पढ़ने वाले सभी विद्यार्थी दाखिला छठी कक्षा में हो रहे हैं। डीईओ सेकंडरी तथा मिडिल-हाई के स्कूल मुखी सुनिश्चित करेंगे छठी कक्षा में दाखिल किए विद्यार्थी हर रोज स्कूल आ रहे हैं। वहीं आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले सभी विद्यार्थियों का दाखिला नौवीं कक्षा में तथा दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का दाखिला 11वीं कक्षा में होना जरूरी है। सरकार की ओर से लिए फैसले के अनुसार इस बात पर विशेष जोर दिया जाता है कि स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थी अगली कक्षा में लाजिमी दाखिला लें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhatinda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×