--Advertisement--

अपहरण और दुष्कर्म के दोषियों की संपत्ति नीलाम कर पीड़ित पक्ष को मिलेगा 90 लाख का मुआवजा

फरीदकोट के बहुचर्चित रेप केस में दोषियों की संपत्ति नीलाम करके पीड़ित परिवार को 90 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 04:34 PM IST

फरीदकोट। यहां के बहुचर्चित रेप केस में दोषियों की संपत्ति नीलाम करके पीड़ित परिवार को 90 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। यह फैसला हाईकोर्ट ने दोषी पक्ष की लोअर कोर्ट के फैसले के बाद लगाई गई याचिका पर सुनाई करते हुए दिया है।

माता-पिता को घायल करके घर से अगवा की थी लड़की

घटना 24 सितंबर 2012 की है। कई साथियों के साथ निशान सिंह ने लड़की के घर पर हमला किया। हथियारों के बल पर नाबालिग छात्रा को उसके घर से उठा ले गए। इस घटना में छात्रा के माता-पिता भी गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। मामले में न्याय की मांग के लिए पीड़ित पक्ष ने एक महीने तक आंदोलन किया था। इस घटना से पहले 2011 में छात्रा को अगवा किया गया था। उस वक्त भी निशान सिंह पर ही अपहरण और दुष्कर्म का केस दर्ज करवा गया था। पहली बार आरोप लगने के बाद पुलिस की ढील के चलते निशान सिंह गिरफ्तार नहीं किया गया। इसी का फायदा उठाकर उसने दूसरी बार भी छात्रा को उसके घर से अगवा कर लिया।

फरीदकोट की कोर्ट ने 2013 में सुनाई थी सजा
रोष-प्रदर्शनों के बीच पुलिस ने एक महीने बाद निशान सिंह को गोवा से गिरफ्तार किया। मामले में उसकी मां व अन्य साथियों को भी नामजद किया गया। दोनों मामलों में जिला अदालत ने साल 2013 में निशान सिंह को उम्रकैद और बाकी दोषियों को 7-7 साल की सजा सुनाई।सजा के खिलाफ दोषियों ने हाईकोर्ट में अपील दायर की।

अब हाईकोर्ट ने दिया ये फैसला
जस्टिस एआर चौधरी व जस्टिस इंद्रजीत सिंह की डबल बैंच ने याचिका को खारिज कर पीड़ित पक्ष को 90 लाख मुआवजा देने के आदेश दिए। दोषी निशान सिंह और उसकी माता नवजोत कौर को पीड़िता को 50 लाख रुपए देने का फैसला सुनाया है। दोनों को पीड़िता के माता-पिता को भी 20-20 लाख रुपए मुआवजे के तौर पर देने होंगे। हाईकोर्ट ने डीसी फरीदकोट को निर्देश दिए हैं कि दोषियों की संपत्ति को नीलाम कर 10 हफ्ते में पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलवाएं।