• Home
  • Punjab
  • Bathinda
  • नरमे के अधिक झाड़ लेने के लिए जल्द करें बिजाई : सर्बजीत सिंह
--Advertisement--

नरमे के अधिक झाड़ लेने के लिए जल्द करें बिजाई : सर्बजीत सिंह

मुख्य खेतीबाड़ी आफिसर डॉ. गुरादित्ता सिंह सिद्धू के आदेशों पर वीरवार को जिला सिखलाई विंग ने मौड़ ब्लाक के गांव रामगढ़...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:15 AM IST
मुख्य खेतीबाड़ी आफिसर डॉ. गुरादित्ता सिंह सिद्धू के आदेशों पर वीरवार को जिला सिखलाई विंग ने मौड़ ब्लाक के गांव रामगढ़ भूंदड में किसान ट्रेनिंग कैंप लगाया। जिसमें खेती माहिरों ने कहा कि नरमे की फसल को कीड़ों से बचाकर प्रति एकड़ अधिक झाड़ लेने के लिए बिजाई जल्द ही मुकम्मल की जाए। खेतीबाड़ी विकास आफिसर डॉ. सर्बजीत सिंह ने किसानों को मिट्टी व पानी की परख करवाने के फायदे बताएं। डॉ. जसवीर सिंह गुमटी ने नरमे, झोने, बासमती फसलों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पिछले साल को देखते हुए नरमे की आगेती बिजाई करने के साथ फसल नदीना व गर्मी की मार से बचाकर अधिक फुटाव लेती है, जोकि कीड़े व बीमारियां से काफी हद तक सुरक्षित हो जाती है, जिसके साथ प्रति एकड़ अधिक पैदावार किसानों को मिलती है। उन्होंने किसानों को झोने व बासमती की नरोई से सेहतमंद पनीरी पैदा करने के अहम नुक्ते साझे किए। वहीं डॉ. कंवल कुमार जिंदल ने किसानों को 20 जून से पहले धान की रोपाई न करने की सलाह दी। पंजाब के प्रतिदिन गिर रहे पानी को बचाने के लिए कम समय लेने वाली किस्म पीआर 126,124 व 127 आदि की काश्त करने के लिए किसानों को प्रेरित किया। इस मौके पर डॉ. कुल भूषण कुमार की अगुवाई में पानी के 80 सैंपल टेस्ट करके मौके पर उन्हें रिपोर्ट दी।

किसान सिखलाई कैंप में जानकारी देते हुए।

20 मई से पहले बिजी धान की पनीरी उखाड़ने के निर्देश

प्रदेश में 20 मई से पहले बिजाई की गई धान और पनीरी को खेतीबाड़ी विभाग की ओर से उखाड़ा जाएगा। पानी की गिरते जलस्तर पर गंभीर हुए खेतीबाड़ी विभाग ने कड़ा फैसला लिया है, इसके तहत खेतीबाड़ी सचिव काहन सिंह पन्नू ने प्रदेश भर के मुख्य खेतीबाड़ी अफसरों को 20 मई से पहले लगाए गए धान एवं पनीरी को उखाड़ने के हुकुम दिए हैं। मुख्य खेतीबाड़ी अफसर ने अपने विभाग के फील्ड स्टाफ को हिदायत दी है कि गांवों में लगाए जा रहे किसान सिखलाई कैंपों में 20 मई से पहले धान, पनीरी न लगाने संबंधी ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक किया जाए।