Hindi News »Punjab »Bhatinda» हैजा, पीलिया और टायफाइड से बचाव के लिए सफाई रखें और पानी उबालकर पीएं

हैजा, पीलिया और टायफाइड से बचाव के लिए सफाई रखें और पानी उबालकर पीएं

सेहत विभाग की ओर सिविल सर्जन डाॅ. हरि नारायण सिंह की देखरेख में राष्ट्रीय डेंगू दिवस के उपलक्ष्य में संजय नगर...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:15 AM IST

  • हैजा, पीलिया और टायफाइड से बचाव के लिए सफाई रखें और पानी उबालकर पीएं
    +1और स्लाइड देखें
    सेहत विभाग की ओर सिविल सर्जन डाॅ. हरि नारायण सिंह की देखरेख में राष्ट्रीय डेंगू दिवस के उपलक्ष्य में संजय नगर स्थित सीनियर सेकंडरी स्कूल में चार्ट मुकाबले करवाए गए। इसमें 19 स्टूडेंट्स ने भाग लिया। विद्यार्थियों ने चार्ट के माध्यम से मच्छरों के जीवन सर्कल, मच्छरों के पैदा होने स्रोतों के संबंध में दर्शाया। विजेता विद्यार्थियों को सेहत विभाग ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस मौके 8वीं की छात्रा हरप्रीत कौर ने पहला, और 9वीं की छात्रा परवीन कौर ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। इस मौके डिप्टी मास मीडिया अधिकारी कुलवंत सिंह ने बताया कि पानी से होने वाली बीमारियाें हैजा, पीलिया, टाइफाइड, पेचिश आदि से बचाव के लिए जरूरी है कि अपने आसपास को साफ रखा जाए और पानी उबालकर ही पिएं। मच्छरों से होने वाली बीमारियां जैसे गिराते, मलेरिया और चिकनगुनिया आदि शामिल हैं, से बचाव के लिए जरूरी है कि मच्छरों के पैदा होने को रोका जाए। कुलवंत सिंह ने बताया कि डेंगू किस्म का गंभीर बुखार है और यह मादा एडीज इजिप्ट नाम के मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू बुखार का टेस्ट और इससे संबंधित इलाज जिला अस्पतालों में मुफ्त किया जाता है। इस मौके स्कूल प्रिंसिपल सुनीता रानी, हरविंदर सिंह, केवल कृष्ण शर्मा, अनुराधा, हरजोत कौर, अध्यापक मंजीत सिंह और जगदीश राम भी उपस्थित थे।

    डेंगू दिवस पर संजय नगर स्कूल में करवाए चार्ट मुकाबले में भाग लेते विद्यार्थी।

    बच्चों को डेंगू के प्रति किया जागरूक

    बठिंडा। शहीद जरनैल सिंह मेमोरियल वेलफेयर सोसायटी की तरफ से डेंगू एवेयरनेस डे के मौके पर इवनिंग स्कूल के बच्चों को जागरूक किया गया। सोसायटी प्रधान अवतार सिंह गोगा ने मौसम बीमारियों की जानकारी दी। इस मौके पर लोगों को जागरूकता के पोस्टर भी बांटे गए।

    ये लक्ष्ण दिखे तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं

    कुलवंत सिंह ने कहा कि यदि किसी को तेज सिरदर्द और तेज बुखार हो, मांस पेशियों और जोड़ों में दर्द हो, आंख के पिछले हिस्से में दर्द महसूस हो, जी कच्चा हो और उलटी आना, थकावट महसूस होना, चमड़ी पर दाने और हालत खराब होने पर नाक, मुंह और मसूड़ों बीच में से खून बहे, तो यह खतरनाक हो सकता है। यह लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीक के सरकारी अस्पताल या सेहत केंद्र जा कर अपने खून की जांच करवाएं और डाक्टर की सलाह लें, स्वयं कोई भी दवा न लें।

  • हैजा, पीलिया और टायफाइड से बचाव के लिए सफाई रखें और पानी उबालकर पीएं
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhatinda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×