• Hindi News
  • Punjab
  • Bhawanigarh
  • इलाज न होने से बैल की मौत, लोगों की गौशाला प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी
--Advertisement--

इलाज न होने से बैल की मौत, लोगों की गौशाला प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी

Bhawanigarh News - अनाज मंडी में पिछले 3 दिनों से इलाज के लिए तड़प रहे बैल की बुधवार को मौत होने पर सब्जी मंडी के प्रबंधकों व रेहड़ी...

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 02:00 AM IST
इलाज न होने से बैल की मौत, लोगों की गौशाला प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी
अनाज मंडी में पिछले 3 दिनों से इलाज के लिए तड़प रहे बैल की बुधवार को मौत होने पर सब्जी मंडी के प्रबंधकों व रेहड़ी यूनियन के प्रबंधकों ने गौशाला प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी की। सब्जी मंडी की आढ़तिया एसोसिएशन के प्रधान देव राज शर्मा, रेहड़ी यूनियन के प्रधान बलजीत सिंह जीता, मीत प्रधान अशोक कुमार, मुन्ना, नदीम, मंगा ने बताया कि अनाज मंडी में भारी संख्या में बेसहारा पशु घूमते रहते हैं लेकिन गौशाला का बेसहारा पशुओं की ओर कोई ध्यान नहीं है। 3 दिन पहले बेसहारा बैल ठंड के कारण बीमार हो गया था। उन्होंने कई बार गौशाला में फोन करके बीमार बैल का इलाज करवाने के लिए कहा, लेकिन गौशाला के प्रबंधकों ने कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने सरकार से मांग की कि बेसहारा पशुओं को गौशाला में छोड़ा जाए।(लखविंदर)

भवानीगढ़ में नारेबाजी करते हुए लोग।

गौशाला में 700 गाय हैं जिन्हें संभालने के लिए फंड की व्यवस्था नहीं : तूर

गौशाला के प्रधान अवतार सिंह तूर ने कहा कि उन्हें बैल के मरने संबंधी किसी ने कोई जानकारी नहीं दी। रही बात बेसहारा पशुओं को संभालने की तो गौशाला में 700 गाएं हैं, जिन्हें संभालने के लिए आमदन का साधन नहीं है। फिर भी अपने स्तर पर प्रयास करके काम चलाया जा रहा है।

X
इलाज न होने से बैल की मौत, लोगों की गौशाला प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..