Hindi News »Punjab »Bhawanigarh» नई पॉलिसी का ट्रक ऑपरेटरों ने किया बहिष्कार, नहीं डाला टेंडर

नई पॉलिसी का ट्रक ऑपरेटरों ने किया बहिष्कार, नहीं डाला टेंडर

पहली अप्रैल से से पंजाब भर में गेहूं की सरकारी खरीद शुरू होने जा रही है परंतु संगरूर समेत प्रदेश भर में ट्रक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:15 AM IST

पहली अप्रैल से से पंजाब भर में गेहूं की सरकारी खरीद शुरू होने जा रही है परंतु संगरूर समेत प्रदेश भर में ट्रक ऑपरेटरों का सरकार की 2018-19 की लोडिंग-अनलोडिंग व कारटेज पॉलिसी का बहिष्कार जारी है। हालात ऐसे हैं कि लोडिंग-अनलोडिंग के लिए मांगे गए टेंडरों की अंतिम तारीख 28 मार्च गुजर चुकी है बावजूद अभी तक किसी ने टेंडर नहीं डाला है। नतीजतन सरकार को टेंडरों की तारीख 2 अप्रैल तक बढ़ानी पड़ी है। ट्रक ऑपरेटरों ने साफ कर दिया है कि इस पॉलिसी के तहत कोई टेंडर नहीं डालेगा। यदि किसी ने बागी होकर टेंडर डालने का प्रयास किया तो वह अपने नुकसान का खुद जिम्मेदार होगा। इधर, टेंडर प्रक्रिया और लोडिंग- अनलोडिंग में रुकावट डालने पर सरकार की ओर से पुलिस केस की दी गई धमकी के बाद ऑपरेटरों और सरकार के बीच टकराव होने की संभावना भी जताई जा रही है।

शनिवार को स्थानीय दशमेश ट्रक यूनियन की बैठक यूनियन कार्यालय में हुई। बैठक में ऐलान किया गया कि ट्रक यूनियन की ओर से सरकार की मौजूदा पॉलिसी के तहत कोई भी टेंडर नहीं डालेगा। ट्रक यूनियन के प्रधान हरजीत बालियां ने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से 2018-19 के लिए लोडिंग-अनलोडिंग व कारटेज के लिए बनाई गई पॉलिसी ट्रक ऑपरेटरों के हक में नहीं है। मामले के हल के लिए शनिवार को पटियाला में यूनियन की राज्य स्तरीय बैठक आला अधिकारियों के साथ हुई थी परंतु बैठक में टेंडरों संबंधी कोई फैसला नहीं हो सका है। इसलिए यूनियन की ओर से फिर से लुधियाना में तीन अप्रैल को बैठक कर आगे की रणनीति तय की जाएगी।

संगरूर में ट्रक यूनियन की बैठक में शामिल ट्रक ऑपरेटर। -भास्कर

किसी ने टेंडर डाला तो नुकसान का खुद होगा जिम्मेदार : रणदीप

ट्रक यूनियन के पूर्व प्रधान रणदीप सिंह मिंटू ने कहा कि यूनियन स्टेट कमेटी के साथ चट्टान की तरह खड़ी है। यदि यूनियन का कोई सदस्य राज्य कमेटी से बागी होकर टेंडर डालेगा तो वह अपने नुकसान का खुद जिम्मेदार होगा। यूनियन की सहमति के बिना टेंडर डालने वाले बाहरी व्यक्ति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकार चाहे तो उनपर केस दर्ज कर जेल भेज दे परंतु किसी को टेंडर नहीं डालने दिया जाएगा।

जिले की 15 ट्रक यूनियनें बहिष्कार में शामिल

जिले से संगरूर, सुनाम, भवानीगढ़, लहरागागा, दिड़बा, धूरी, शेरपुर, संदौड़, मालेरकोटला, खनौरी, मूनक, कुपकलां, अहमदगढ़ और अमरगढ़ की ट्रक यूनियनों और सुनाम की ट्राला यूनियन ने बहिष्कार में शामिल होने का ऐलान किया है।

28 मार्च थी टेंडर डालने की तारीख

सरकार ने टेंडरों डालने की अंतिम तारीख 28 मार्च तय की थी। परंतु ट्रक ऑपरेटरों के बहिष्कार के चलते अभी तक कोई भी टेंडर प्राप्त नहीं हुआ है। इसलिए सरकार ने तारीख बढ़ाकर फिर से 2 अप्रैल तक टेंडर मांगे हैं। जसप्रीत सिंह काहलों, डिस्ट्रिक्ट फूड एंड सप्लाई कंट्रोलर

ट्रक यूनियन का दावा- इस पॉलिसी से पड़ेगा दाम में फर्क

गांव का नाम पुराना दाम (रु) नया दाम (रु)

संगरूर से बालियां 5299 2235

संगरूर से तकीपुर 7890 3911

संगरूर से नमोल 5299 2235

संगरूर से मंडेर कलां 7890 3911

संगरूर से घाबदां 6696 3104

संगरूर से दुगां 6008 2670

संगरूर से लोहाखेड़ 7550 3911

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawanigarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×