--Advertisement--

कर्ज माफ कर किसान पक्षीय नीति बनाए सरकार : अजैब

भाकियू एकता उगराहां की ओर से गांव चन्नों में ब्लॉक प्रधान अजैब सिंह लक्खेवाल व ब्लॉक जनरल सचिव जगतार सिंह...

Danik Bhaskar | Feb 07, 2018, 02:20 AM IST
भाकियू एकता उगराहां की ओर से गांव चन्नों में ब्लॉक प्रधान अजैब सिंह लक्खेवाल व ब्लॉक जनरल सचिव जगतार सिंह कालाझाड़ की अगुवाई में केंद्र सरकार का पुतला फूंक प्रदर्शन किया गया। इस मौके जनरल सचिव जगतार सिंह कालाझाड़ ने कहा कि जब से केंद्र में मोदी सरकार बनी है तब से लेकर अब तक भारत में 3 लाख से ज्यादा किसान खुदकुशी कर चुके हैं। जबकि पंजाब में 17 हजार के करीब किसान मौत को गले लगा चुके हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए बजट में किसानों के हित जैसी कोई बात नहीं की गई है। बजट में फसल खरीदने के लिए 200 करोड़ रुपए रखे गए हैं जिससे मौजूदा मूल्य पर सिर्फ एक करोड़ 30 लाख टन से ज्यादा गेहूं मंडियों में से आती है। पूरे देश में से 4 करोड़ टन के करीब गेहूं व अन्य फसलें व्यापारियों के रहमों कर्म पर छोड़ दी गई हैं। उन्होंने कहा कि बजट में राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, राजपाल के वेतन में भारी बढ़ोतरी की गई है। लेकिन किसानों को किसी भी प्रकार ख्याल नहीं रखा गया है। किसानों ने मांग की कि कारपोरेट घराणों की सब्सिडियों को खत्म कर किसान व मजदूरों का पूरा कर्ज माफ किया जाए और किसान पक्षी नीति बनाई जाए। इस मौके पर बलविंदर सिंह लक्खेवाल, पंजाब सिंह, सुखविंदर सिंह कालाझाड़, गुरमेल सिंह मुणसीवाला, अमरजीत सिंह, नछत्तर सिंह चन्नों आदि मौजूद थे। (लखविंदर गर्ग)

भवानीगढ़ के गांव चन्नों में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के किसान नेता केंद्र सरकार का पुतला फूंक नारेबाजी करते हुए।

मूलोवाल में केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

शेरपुर| गांव मूलोवाल में किसानों व मजदूरों द्वारा भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के ब्लॉक प्रधान श्याम दास कांझली की अगुवाई में बजट के विरोध में केंद्र सरकार की अर्थी फूंकी गई। इस मौके श्याम दास कांझली ने कहा कि केंद्र सरकार का बजट किसान व मजदूर विरोधी है। पूरे देश में कर्ज के कारण तीन लाख से अधिक किसान व खेत मजदूर महिलाएं आत्महत्याएं कर चुकी हैं। आत्महत्याएं कर चुके किसानों व खेत मजदूरों के परिवारों को भी कोई राहत नहीं दी गई है। जबकि दूसरी तरफ कारपोरेट अदारों के लाखों रुपए के कर्ज को सरकार हर साल माफ कर देती है। केंद्र सरकार का बजट पूर्ण तौर पर किसान व गरीब विरोधी है। इस मौके कृपाल सिंह, बाबू सिंह, अवतार सिंह, प्रगट सिंह, इंद्रजीत सिंह, मनजीत मौजूद थे। (शर्मा)

सुनाम में केंद्र सरकार का पुतला फूंकते हुए किसान ।

बजट में किसानों को फूटी कौड़ी भी नहीं दी : सुखपाल

सुनाम| भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के आह्वान पर किसानों द्वारा ब्लॉक नेता रामशरन सिंह उगराहां की अगुवाई गांव जखेपल के बस अड्डे पर केंद्रीय बजट के विरोध में केंद्र सरकार की अर्थी फूंकी गई। इस मौके जिला नेता अजैब सिंह जखेपल व सुखपाल सिंह माणक कणकवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने अपने बजट में किसानों को फूटी कौड़ी भी नहीं दी है। इसके अलावा कैप्टन सरकार के विरूद्ध 7 फरवरी को पूरे पंजाब में 12 से 2 बजे तक सड़कों पर चक्काजाम किया जाएगा। इस मौके पाल दोलेवाला, महिंदर नमोल, जग्गी फलेड़ा, गुरजंट, हरी चंद जखेपल, बावा छाजली, प्रीतम मौजूद थे। (टिंका)