• Home
  • Punjab News
  • Bhawanigarh News
  • जमीनी मामले में पुलिस ने युवक को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा अफसर बोले-इसने पुलिस पर कुत्ता छोड़ा और वर्दी फाड़ी
--Advertisement--

जमीनी मामले में पुलिस ने युवक को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा अफसर बोले-इसने पुलिस पर कुत्ता छोड़ा और वर्दी फाड़ी

गांव फुमणवाल के नौजवान को पुलिस की ओर से खेतों में दौड़ा-दौड़ा कर डंडों से पीटा गया है। उसे घसीट कर थाने तक लेकर गए...

Danik Bhaskar | Mar 29, 2018, 02:20 AM IST
गांव फुमणवाल के नौजवान को पुलिस की ओर से खेतों में दौड़ा-दौड़ा कर डंडों से पीटा गया है। उसे घसीट कर थाने तक लेकर गए हैं। पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस रिश्वत के दम पर धक्के से उनके प्लाट पर उनके रिश्तेदारों का कब्जा करवाना चाहती है। पुलिस की ओर से नौजवान को पीटे जाने की वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल की गई है। जिसके बाद पुलिस अपने बचाव में जुट गई है।

गांव फुमणवाल निवासी गुरप्रीत सिंह ने बताया है कि गांव में एक प्लाट को लेकर उनका अपने चाचा और ताए के साथ झगड़ा चल रहा है। पुलिस रिश्वत के दम पर प्लाट पर रिश्तेदारों का कब्जा करवाना चाहती है। करीब सात दिन पहले पुलिस ने गांव पहुंच कर प्लाट का कब्जा करवाने का प्रयास किया जब पुलिस को रोकने का प्रयास किया गया तो पुलिस ने उसके भाई गुरविंदर सिंह को खेतों में दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है। उसकी मां कुलदीप कौर को डंडों से पीटा गया है।

पंचायत मेंबर धर्म सिंह का कहना है कि गांव में प्लाट को लेकर चाचा-ताए में झगड़ा है। पुलिस कब्जा दिलाने के इरादे से गांव आई थी जबकि पुलिस को कब्जा वारंट के बिना कब्जा दिलाने का कोई अधिकार नहीं है। पुलिस ने कुलदीप कौर, उनके बेटे जसबीर सिंह और गुरविंदर सिंह को पीटा है जोकि पुलिस की धक्केशाही है। पुलिस कर्मचारियों पर कार्रवाई की जानी चाहिए।

पुलिस का तर्क : बचाव के लिए हल्का बल प्रयोग करना पड़ा

संगरूर में वायरल वीडियो में फुमणवाल में नौजवान को खेतों में पीटती पुलिस।

नौजवान को पीटने का वीडियो सामने आया|मंगलवार को नौजवान को पीटे जाने की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल की गई। जिसकी बुधवार को पहचान की गई है। वीडियो में कई पुलिस कर्मचारी नौजवान को खेतों में दौड़ाकर पीट रहे हैं। नौजवान को घसीट कर ले जाया जा रहा है।

इधर, राजोमाजरा गांव में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी टकराव, फायरिंग, दो महिलाओं सहित पांच लोग घायल

धूरी| गांव राजोमाजरा में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में हुए खूनी टकराव में दो महिलाओं सहित कुल 5 व्यक्तियों के घायल होने का मामला सामने आया है।

सिविल अस्पताल धूरी में उपचाराधीन अजीत सिंह पुत्र गुरचरण सिंह निवासी राजोमाजरा ने बताया कि सुबह जमीनी विवाद को ले कर बलविंदर सिंह व सुरिन्द्रजीत सिंह ने उन पर हमला बोल दिया था। उन्होंने कहा कि पूर्व फौजी सुरिंद्रजीत सिंह ने जहां उन पर राइफल से फायर किया था, वहीं उसके साथ मौजूद बलविंदर सिंह और उसके पुत्र चमकौर सिंह ने भी तेजधार हथियारों से हमला किया था। उन्होंने कहा कि इस हमले में वह खुद और उसकी भाभी सुखविंदर कौर प|ी महिंद्र सिंह भी घायल हो गई है। जबकि अस्पताल में ही उपचाराधीन दूसरे पक्ष के बलविंदर सिंह ने कहा कि हमला उन्होंने नहीं बल्कि अजीत सिंह द्वारा किया गया था। उन्होंने यह भी माना कि उन्हें बचाने के लिए उनके भाई सुरिंद्रजीत सिंह ने हवाई फायर जरूर किया था। उन्होंने कहा कि इस हमले में उनके अलावा उनके भाई सुरिंद्रजीत सिंह तथा बेटी वीरपाल कौर भी घायल हो गई है। (राजेश टोनी)

घायल सुखविंदर कौर।

कालाझाड़ पुलिस चौकी के इंचार्ज राजवंत सिंह का कहना है कि राम सिंह ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि उनका प्लाट को लेकर जसबीर सिंह आदि से झगड़ा चल रहा है। प्लाट पर जसबीर सिंह आदि कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसे में पुलिस पार्टी मौका देखने गई तो वहां जसबीर सिंह नहीं मिला। जबकि जसबीर सिंह के भाई गुरविंदर सिंह ने पुलिस पर कुत्ता छोड़ दिया और पुलिस कर्मचारी की वर्दी फाड़ दी। जिस कारण पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा है। यदि पुलिस बल प्रयोग न करती तो गुरविंदर अधिक नुकसान कर देता। ऐसे में पुलिस ने गुरविंदर सिंह के विरुद्ध पुलिस की वर्दी फाड़ने के आरोप में पर्चा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

घायल बलविंदर सिंह।

गुरविंदर के भाई समेत तीन लोगों पर पर्चा दर्ज

पुलिस ने 23 मार्च को भवानीगढ़ पुलिस थाने में राम सिंह की शिकायत पर गुरप्रीत सिंह, जसबीर सिंह और सुखदेव सिंह पर प्लाट पर जबरी कब्जा करने के आरोप में पर्चा भी दर्ज किया है।

पुलिस बचाव में पावर का इस्तेमाल कर सकती है


घायल अजीत सिंह।