• Home
  • Punjab News
  • Bhawanigarh News
  • महाराष्ट्र में दलितों पर हुए हमले के विरोध में बसपा ने रोष मार्च निकाला
--Advertisement--

महाराष्ट्र में दलितों पर हुए हमले के विरोध में बसपा ने रोष मार्च निकाला

बहुजन समाज पार्टी द्वारा महाराष्ट्र में दलितों पर हुए हमले के विरोध में यहां शहर में रोष मार्च निकाला गया व केंद्र...

Danik Bhaskar | Jan 12, 2018, 01:25 PM IST
बहुजन समाज पार्टी द्वारा महाराष्ट्र में दलितों पर हुए हमले के विरोध में यहां शहर में रोष मार्च निकाला गया व केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। प्रदर्शनकारियों ने मांग की कि घटना के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों को सख्त सजा दी जाए। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि आरोपियों को सजा न दी गई तो बसपा व अंबेडकरवादी संगठन सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होंगे। वीरवार को बसपा व अन्य संगठनों के वर्कर यहां अंबेडकर भवन में एकत्रित हुए। जहां से शहर में रोष मार्च किया गया।

पटियाला गेट से बाजारों से होता हुआ रोष मार्च डीसी परिसर के सामने समाप्त हुआ। बसपा के राज्य जनरल सचिव डाॅ. मक्खन सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र के भीमा कोरेगाओं में बहुजन मूल निवासी 1 जनवरी को शांतमय ढंग से महान योद्धाओं को श्रद्धांजलि भेंट कर रहे थे। जहां भाजपा सरकार व आरएसएस के शरारती लोगों द्वारा दलितों पर हमला किया गया। दलितों को घरों से निकालकर पीटा गया व तोड़फोड़ की गई। इस हमले में व्यक्ति की मौत हो गई थी। उन्होंने समूह बहुजनों, अंबेडकरवादियों व कांशी राम के आदर्शों को मानने वालों को एकजुट होने की अपील की। इस मौके बसपा के जोन इंचार्ज चमकौर सिंह वीर, पवित्र सिंह, हरविंदर सिंह, गुरसेवक सिंह कलेर, कर्मजीत सिंह हरीगढ़, जगतार सिंह बालियां, संजीव लहरा, करनैल सिंह नीलोवाल, प्रगट सिंह, रोशन लाल, जगजीतइंद्र सिंह, शमशेर सिंह, मलकीत सिंह, केवल सिंह खेड़ी आदि के अलावा अन्य लोग भी मौजूद थे।

संगरूर में रोष मार्च करते हुए बसपा वर्कर। -भास्कर

पंचायती जमीन कंपनी को देने के प्रयासों पर दलितों ने विरोध जताया

भवानीगढ़| बालद कलां गांव में पंचायती जमीन किसी कंपनी को देने के लिए किए जा रहे प्रयासों का जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी ने विरोध जताया है। वीरवार को हलका विधायक विजय इन्द्र सिंगला और प्रशासनिक अधिकारियों का गांव में पहुंचने का पता चलते ही कमेटी के सदस्यों में रोष फैल गया। जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी के जिला प्रधान मुकेश मलौद व मनप्रीत सिंह भट्टीवाल ने कहा कि दलित भाईचारे द्वारा पिछले कई सालों से संघर्ष करते हुए पंचायती जमीन हासिल करके सांझी खेती की जा रही है लेकिन सरकार उनसे धक्के से जमीन छीनना चाहती है। उन्होंने मांग की कि सरकार उपजाऊ जमीनों की बजाए खाली व बंजर पड़ी जमीनों के अलावा खाली पड़े फोकल प्वाइंटस में इंडस्ट्री लगाए। इस मौके रणधीर सिंह, जरनैल सिंह, चरन सिंह, लाल सिंह, पाल सिंह, कामरेड पप्पू के अलावा अन्य मौजूद थे। (लखविंदरपाल गर्ग)