• Hindi News
  • Punjab
  • Bhawanigarh
  • कैप्टन सरकार वादे पूरे करने की बजाय किसानों की मोटरों पर बिल लगा रही : मान

कैप्टन सरकार वादे पूरे करने की बजाय किसानों की मोटरों पर बिल लगा रही : मान / कैप्टन सरकार वादे पूरे करने की बजाय किसानों की मोटरों पर बिल लगा रही : मान

Bhaskar News Network

Jan 28, 2018, 08:20 PM IST

Bhawanigarh News - केंद्र की मोदी सरकार लोगों से किए अपने वादों से भाग रही है। मोदी सरकार काला धन वापस लाने के दावे करती थी लेकिन ऐसा...

कैप्टन सरकार वादे पूरे करने की बजाय किसानों की मोटरों पर बिल लगा रही : मान
केंद्र की मोदी सरकार लोगों से किए अपने वादों से भाग रही है। मोदी सरकार काला धन वापस लाने के दावे करती थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। स्वामीनाथन की रिपोर्ट अभी तक लागू नहीं की गई है। इन विचारों का प्रगटावा सांसद भगवंत मान ने गांव बालद खुर्द में लोगों को संबोधित करते हुए किया।

उन्होंने कहा कि कैप्टन सरकार भी अपने चुनावी वायदों से भाग गई है। सरकार द्वारा किसानों की मोटरों पर बिल लगाए जा रहे हैं व थर्मल प्लांट बंद करके मुलाजिमों को बेरोजगार किया जा रहा है। एक तरफ तो सरकार लोगों से गऊ सैस ले रही है जबकि दूसरी तरफ बेसहारा पशु सड़कों पर हादसों का कारण बनते हैं। उन्होंने कहा कि वह संसद में सबसे ज्यादा हाजिर रहकर लोक मसले उठाते हैं। वह खेती आधारित मसलों संबंधी बोलने के लिए संसद में अधिक से अधिक समय लेते हैं। इस मौके दिनेश बांसल, हरप्रीत सिंह बाजवा, इंद्रपाल सिंह मौजूद थे। (लखविंदर)

गांव बालद खुर्द में लोगों को संबोधित करते हुए सांसद भगवंत मान

पेंशन काटने का मुद्दा लोक सभा में उठाएंगे

दिड़बा| पंजाब सरकार द्वारा बुढ़ापा पेंशनों में करवाई गई जांच दौरान जायज पेंशनों को भी काट दिया गया है। जिस कारण पैंशन में बढ़ोतरी की आस लगाई बैठे बुजुर्गों को निराशा का सामना करना पड़ा है। यह विचार हलका संगरूर से एमपी भगवंत मान ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि समय की सरकारों ने हमेशा वोट लेने के लिए बुढ़ापा पैंशन का इस्तेमाल किया है। जब चुनाव आती हैं तो उस समय पेंशनरों को शुरू कर दिया जाता है। बाद में जांच के नाम पर जरूरतमंद बुजुर्गों की पेंशनें काट दी जाती है। मान ने कहा कि यह मुद्दा वह बजट सेशन के दौरान लोक सभा में उठाएंगे।

X
कैप्टन सरकार वादे पूरे करने की बजाय किसानों की मोटरों पर बिल लगा रही : मान
COMMENT