--Advertisement--

किसानों ने प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

घराचों के खेतों में बरसाती पानी की निकासी न होने से किसानों की करीब 132 एकड़ फसल पानी में डूब गई है। इससे भड़के...

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 02:10 AM IST
घराचों के खेतों में बरसाती पानी की निकासी न होने से किसानों की करीब 132 एकड़ फसल पानी में डूब गई है। इससे भड़के किसानों ने पंजाब सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। आरोप है कि पानी निकासी वाली जगह पर एक ढाबा मालिक ने मिट्टी डालकर पानी की निकासी का रास्ता बंद कर दिया है। किसानों ने जेसीबी लगा मिट्टी को हटाकर पानी की निकासी की। किसान मनजीत सिंह घराचों, दविंदर सिंह ने कहा कि गत दिनों हुई बारिश के कारण निकासी न होने से किसानों की धान की फसल पानी में डूब गई है। उन्होंने कहा कि पीडब्ल्यूडी विभाग ने घराचों से महिला चौक तक पानी की निकासी के लिए अंडर ग्रांउड पाइप डाली थी, परंतु सड़क ऊंची हो जाने के कारण पाइप मिट्टी में दब गई। उन्होंने प्रशासन से मांग की कि अंडर ग्रांउड पाइप नए सिरे से डाली जाए, ताकि बारिश के पानी की निकासी हो सके ढाबा मालिक मनजीत सिंह नागरा ने कहा कि उन्होंने मिट्टी डालने से पहले अंडर ग्रांउड पाइप डाली थी, ताकि पानी की निकासी हो सके। (लखविंदर)

भवानीगढ़ के गांव घराचों में नारेबाजी करते किसान।

तहसीलदार ने किसानों को किया शांत

मामले का पता चलते ही तहसीलदार मनजीत सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने किसानों से बातचीत कर उन्हें शांत किया। मनजीत सिंह ने कहा कि किसानों ने ढाबा मालिक के खिलाफ कोई भी लिखित शिकायत नहीं दी है। लिखित शिकायत के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।