--Advertisement--

सांसद कोटे से आई Rs.10 लाख ग्रांट सरपंच ने वापस की

आप सांसद भगवंत द्वारा गांव घराचों में लाइब्रेरी बनाने के लिए भेजी गई ग्रांट को कांग्रेसी सरपंच द्वारा इस्तेमाल न...

Danik Bhaskar | Apr 28, 2018, 02:20 AM IST
आप सांसद भगवंत द्वारा गांव घराचों में लाइब्रेरी बनाने के लिए भेजी गई ग्रांट को कांग्रेसी सरपंच द्वारा इस्तेमाल न कर ग्रांट वापस भेजने पर मान ने गांव पहंचकर सरपंच की खूब क्लास लगाई। आरोप है कि भगवंत मान की ओर से सांसद कोटे से लाइब्रेरी के लिए भेजी गई 10 लाख रुपए की ग्रांट को सरपंच ने जानबूझ कर वापस भेज दिया है। भगवंत मान ने ऐलान किया कि मामले को लेकर 15 मई को गांव में इजलास बुलाया जाएगा।

शुक्रवार सुबह आप सांसद भगवंत मान बीडीपीओ प्रवेश गोयल को साथ लेकर गांव घराचों के बस स्टैंड में पंहुचे। जहां पर गांव के लोग बड़ी संख्या में जुटे हुए थे।

गांव के पंच गुरमीत सिंह व हरदीप सोढी ने भगवंत मान से शिकायत की कि गांव के विकास कार्यों के लिए आई ग्रांट 40 लाख रुपए का सरपंच द्वारा कोई हिसाब किताब नहीं दिया जा रहा है। एमपी कोटे से भेजी गई 22 स्ट्रीट लाइटों को भी सरपंच ने सही जगह पर न लगाकर अपने चहेते लोगों के घरों के आगे लगाई हैं। सरपंच विकास कार्यों में लोगों से भेदभाव कर रहा है।

भगवंत मान ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने गांव घराचों में पब्लिक लाइब्रेरी के लिए 10 लाख रुपए की 9 जनवरी को ग्रांट भेजी थी, परंतु सरपंच ने पंचायत मेंबरों द्वारा साथ न देने का बहाना बना ग्रांट को वापस भेज दिया। उन्होंने कहा कि लोगों को शिक्षा के प्रति आकर्षित करने के लिए ग्रांट भेजी थी, परंतु राजनीतिक साजिश के तहत ग्रांट को वापस भेज दिया गया। (लखविंदर)

गांव घराचों में सरपंच गुरमीत सिंह से बातचीत करते सांसद भगवंत मान।

पंचायत सदस्य नहीं दे रहे साथ : सरपंच गुरमीत सिंह

कांग्रेसी सरपंच गुरमीत सिंह ने सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि लाइब्रेरी बनाने के लिए कुछ सदस्य उनका साथ नहीं दे रहे हैं। यदि पंचायत लाइब्रेरी बनाने के लिए जगह देती है तो उन्हें कोई एतराज नहीं है।