Hindi News »Punjab »Bhawanigarh» पावरकॉम के खिलाफ लोगों ने की नारेबाजी

पावरकॉम के खिलाफ लोगों ने की नारेबाजी

एफसीआई गोदामों के ऊपर से गुजरती बिजली की तारे ढीली होने के विरोध में मोहल्लावासियों व पल्लेदारों ने पावरकॉम के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 01, 2018, 02:20 AM IST

पावरकॉम के खिलाफ लोगों ने की नारेबाजी
एफसीआई गोदामों के ऊपर से गुजरती बिजली की तारे ढीली होने के विरोध में मोहल्लावासियों व पल्लेदारों ने पावरकॉम के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर एफसीआई पल्लेदार यूनियन के पूर्व प्रधान करनैल सिंह, बलविंदर सिंह ने कहा कि अनाज मंडी फीडर से वार्ड-10 तक की विभिन्न गली मोहल्लों में जाने वाली सप्लाई की तारें ढीली हो गई हैं व बहुत पुरानी हो चुकी है। जिस कारण दुर्घटना होने का डर बना रहता है। विभाग के अधिकारियों को कई बार लिखित शिकायत दी जा चुकी है। परंतु पावरकॉम विभाग की ओर से इसका कोई हल नहीं निकाला जा रहा। एफसीआई गोदाम के कर्मचारी बलवंत सिंह ने कहा कि काम करने के बाद जब हम कुछ देर के लिए जमीन पर बैठते हैं तो तारें सिर पर लगने का डर बना रहता है। उन्होंने कहा कि जब गोदामों में ट्रक भरने के लिए आते हैं तो ट्रक तारों में फंस जाते हैं। जिससे तारें टूट जाती हैं और कोई दुर्घटना होने का डर बना रहता है। उन्होंने मांग कि है कि पुरानी तारों को बदल कर पीवीसी केबल डाली जाए। यदि मांगें न मानी गई तो विभाग के खिलाफ संघर्ष किया जाएगा। इस मौके पर शरीफ खान, हैप्पी शर्मा, अमनदीप सिंह, मलकीत सिंह, ज्ञान चंंद, गुरविंदर सिंह, सतनाम सिंह, हरबंस सिंह, गुरमीत सिंह, बलवंत सिंह, जगदेव सिंह, मेला सिंह, तेज सिंह, मनोज कुमार, तेजी सिंह उपस्थित थे।

इस संबंधी पावरकॉम के एसडीओ रवि चौहान ने कहा कि समस्या के बारे में पता चल गया है। मौका का जायजा लेने के बाद इसे हल कर दिया जाएगा। यदि पुरानी तारें बदल कर पीवीसी केबल डालने की जरूरत है तो पीवीसी केबल डाल दी जाएगी। (लखविंदर)

विभाग के अधिकारियों को कई बार दी लिखित शिकायत पर नहीं हुआ समाधान

भवानीगढ़ में पावरकॉम के खिलाफ प्रदर्शन करते वार्ड-10 के मोहल्लावासी और पल्लेदार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawanigarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×