--Advertisement--

सरकार के खिलाफ रोष-प्रदर्शन कर फूंका पुतला

भवानीगढ़ में पंजाब सरकार की अर्थी फूंकते पंजाब सबॉर्डिनेट सर्विसिस फेडरेशन व सफाई सेवक यूनियन के सदस्य।...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 03:25 AM IST
भवानीगढ़ में पंजाब सरकार की अर्थी फूंकते पंजाब सबॉर्डिनेट सर्विसिस फेडरेशन व सफाई सेवक यूनियन के सदस्य।

भास्कर संवाददाता | भवानीगढ़

पंजाब सबॉर्डिनेट सर्विसिस फेडरेशन व सफाई सेवक यूनियन की ओर से पंजाब सरकार के खिलाफ रोष मार्च निकाला गया। इसके अलावा कर्मचारियों ने मुख्य सड़क पर सरकार का पुतला भी फूंका। सफाई सेवक यूनियन के जिला प्रधान राम सरूप बोहत, ब्लाक प्रधान जगमेल सिंह ने कहा कि चुनावों के समय मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लोगों से बड़े-बड़े वायदे किए, परंतु अब सरकार अपने वायदों से भाग रही है। कैप्टन सरकार की ओर से पंजाब में नशा बंद करने, घर-घर में नौकरी देने, स्मार्ट फोन देने, किसानों का पूरा कर्ज माफ करने, ठेकेदारी सिस्टम बंद करने का वायदा किया गया था, जिनमें से एक भी वायदा पूरा न होने के कारण लोगों में रोष पाया जा रहा है। इस मौके वा पंजाब सबऑर्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन की जिला प्रधान राजिंदर कौर काकड़ा ने कहा कि मांगें पूरी न होने पर कर्मचारियों में रोष पाया जा रहा है। पंजाब सरकार आशा वर्कर, मिड-डे मील व आंगनबाड़ी के कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के वायदे से भाग रही है। इस मौके पर छिंदर कौर, कुलदीप कौर, अमरजीत कौर, राजविंदर कौर, सरबजीत कौर, बलजीत कौर, जगसीर सिंह, गुरप्रीत सिंह, हितेश कुमार, सुखमनजीत सिंह, कुलदीप सिंह आदि उपस्थित थे। (लखविंदर)

डवेलपमेंट टैक्स के विरोध में फैडरेशन ने रोष मार्च निकालकर सरकार का पुतला फूंका

पंजाब सरकार का पुतला फूंकते पंजाब सबॉर्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन के सदस्य।

मालेरकोटला |पंजाब सरकार की ओर से कर्मचारियों पर लगाए गए विकास टैक्स के विरोध में पंजाब सबॉर्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन की ओर से रणजीत सिंह की अगुवाई में रोष मार्च निकाला गया। इस दौरान गुरुद्वारा हां दा नारा चौक में पंजाब सरकार का पुतला भी फूंका गया। इस मौके पर कमरजहां, गुरदास सिंह व राकेश कुमार ने कहा कि सरकार की ओर से विकास के नाम पर कर्मचारियों पर 200 रुपए प्रति माह टैक्स लगा कर उन पर बोझ डाला जा रहा है। सरकार चुनावों के दौरान किए वायदों के मुताबिक 22 महीनों के डीए का बकाया देने की बजाय खजाना खाली होने का बहाना बनाकर डीए की तीन किश्तें देने से इंकार कर रही है। उन्होंने मांग की कि कर्मचारियों पर लगाया गया टैक्स बंद किया जाए, कच्चे कर्मचारी पक्के किए जाएं, पे कमिशन की रिपोर्ट लागू की जाए। इस मौके पर वैद नाथ, केवल सिंह, हरप्रीत कौर, प्रवीन अख्तरी भोली, कुलदीप कौर, भीम सिंह, शेर खां, गुरप्रीत सिंह आदि उपस्थित थे। (जमाली)