Hindi News »Punjab »Dasua» शूगर मिल पर गन्ना काश्तकारों के धरने से रोड जाम

शूगर मिल पर गन्ना काश्तकारों के धरने से रोड जाम

भास्कर संवाददाता | गढ़दीवाला बकाए की अदायगी तथा गन्ना बाउंड करने की मांग को लेकर एबी रंधावा शूगर मिल के समक्ष...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 01, 2018, 02:00 AM IST

शूगर मिल पर गन्ना काश्तकारों के धरने से रोड जाम
भास्कर संवाददाता | गढ़दीवाला

बकाए की अदायगी तथा गन्ना बाउंड करने की मांग को लेकर एबी रंधावा शूगर मिल के समक्ष धरने पर बैठे गन्ना काश्तकारों ने पहले दिए अल्टीमेटम अनुसार शनिवार बाद दोपहर करीब 2 बजे दसूहा होशियारपुर मार्ग पर टैंट लगाकर सड़क पर जाम लगा दिया। मिल के गेट नंबर 1 के समक्ष लगाए जाम दौरान सहायक गन्ना विकास अफसर, पुलिस प्रशासन तथा सिविल प्रशासन के दखल से खंड मिल अधिकारियों की गन्ना संघर्ष कमेटी से दो बार हुई बातचीत बेनतीजा रही। जाम कारण प्रशासन को ट्रैफिक समस्या को दूर करने के दूसरे रास्ते ढूंढने पड़े पर धरना प्रदर्शनकारियों ने सड़क से जाम नहीं हटाया और इस दौरान लोगों को भारी भीष्म गर्मी में भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

यहां उल्लेखनीय है कि क्षेत्र के गन्ना काश्तकार तथा किसान अपनी समस्याओं को लेकर शुक्रवार सुबह 9 बजे से मिल के गेट के समक्ष धरने पर बैठे और सारी रात धरने पर बैठे रहे और शनिवार को उन्होंने मिल को रोड जाम करने का अल्टीमेटम दिया था। धरने को संबोधन करते हुए सुखपाल सिंह डफ्फर, गगनप्रीत मोहा, हरदीप सिंह पिंकी डफ्फर, गुरमेल सिंह बुड्ढी पिंड, जसविंदर जस्सा, अशोक जाजा ने कहा कि क्षेत्र के गांवों के 6200 किसानों का शूगर मिल की तरफ करीब 65 करोड़ रुपए बकाया पड़ा है। जब कि करीब 40-45 हजार एकड़ गन्ना बाउंड करने वाला पड़ा है, जिसका सर्वे करने को शूगर मिल आनाकानी कर रही है। शूगर मिल द्वारा आम तौर पर अप्रैल मई महीने तक सर्वे करके गन्ना बाउंड कर लिया जाता था परंतु इस बार जान बूझकर किसानों पर दबाव बनाने के लिए सर्वे नहीं किया जा रहा।

मिल प्रबंधक शूगर की बिक्री तथा मिल अंदर लगी शराब की फैक्ट्री में सीरा प्रयोग करके करोड़ों रुपए कमा रही है परंतु गन्ना काश्तकारों की अदायगी को नजरअंदाज किया जा रहा है। शुगर मिल को फंडों की कोई कमी नहीं है पर प्रबंधक केंद्र से राहत लेने की आड़ में गन्ना काश्तकारों को परेशान कर रही है ताकि राहत लेने के लिए किसानों के संघर्ष का सही फायदा लिया जा सके।

इस मामले को हल करने के लिए केन कमिश्नर द्वारा सहायक गन्ना विकास अफसर बलवीर चंद तथा तहसीलदार हरकर्म चंद की ड्यूटी लगाई गई थी पर मिल प्रबंधक गन्ना काश्तकारों का गन्ना बाउंड करीब 20 दिन बाद करने तथा शूगर बिक्री पर लटकती अदायगी करने पर अड़े रहे। जब कि किसानों की मांग थी कि तुरंत गन्ना बाउंड करना शुरू किया जाए तथा समय बंद तीन किश्तों में समूह किसानों की अदायगी की जाए। गन्ना विकास अधिकारी द्वारा किसानों को भरोसा दिया गया कि वह एक सप्ताह के अंदर गन्ने का सर्वे शुरू करवा देंगे तथा अदायगी भी तुरंत करवाने की कोशिश की जा रही है।

इस मौके गुरप्रीत, अमरजीत सिंह, हरविंदर सिंह, हरविंदर सिंह, खुशवंत सिंह, सेवा सिंह, कुलविंदर सिंह, गुरदयाल सिंह, दलवीर सिंह, जसपाल सिंह, सतनाम सिंह, हरिंदर सिंह, हरप्रीत सिंह, प्रदीप सिंह, कुलदीप सिंह, सोनू सकराला, मनदीप भाना, सुरजीत सिंह, तलविंदर सिंह, जसविंदर सिंह, जसविंदर सिंह, जसवीर बाहला, दविंदर सिंह, जतिंदर सिंह, सुरिंदर पाल रमदासपुर सहित अन्य गन्ना काश्तकार उपस्थित थे।

शूगर मिल रंधावा के गेट के समक्ष रोड पर जाम लगाकर बैठे गन्ना काश्तकार। -भास्कर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dasua

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×