• Hindi News
  • Punjab
  • Dasua
  • युवाओं ने सोशल मीडिया के सहयोग से बनाया ‘नसराला ग्रुप’ छात्रों को स्टेशनरी और लड़कियों की शादी में कर रहा मदद
--Advertisement--

युवाओं ने सोशल मीडिया के सहयोग से बनाया ‘नसराला ग्रुप’ छात्रों को स्टेशनरी और लड़कियों की शादी में कर रहा मदद

Dainik Bhaskar

Jul 02, 2018, 02:00 AM IST

Dasua News - 2 अक्टूबर, 2017 को कुछ दोस्त इकट्ठे हुए और समाज के लिए कुछ अच्छा करने के लिए सोचा। इसी बात का नतीजा निकला कि उन्होंने...

युवाओं ने सोशल मीडिया के सहयोग से बनाया ‘नसराला ग्रुप’ छात्रों को स्टेशनरी और लड़कियों की शादी में कर रहा मदद
2 अक्टूबर, 2017 को कुछ दोस्त इकट्ठे हुए और समाज के लिए कुछ अच्छा करने के लिए सोचा। इसी बात का नतीजा निकला कि उन्होंने अपने जैसे विचारों वाले व्यक्तियों से संपर्क किया और सोशल मीडिया पर एक छोटी-सी कॉल से जुड़कर बन गया ‘नसराला ग्रुप’। इसको आज इलाके के लगभग सभी प्राइमरी स्कूलों के विद्यार्थी अच्छी तरह पहचानते हैं, क्योंकि इन्होंने सबसे पहले प्राइमरी स्कूलों के बच्चों को स्टेशनरी व जरूरत का सामान देने से शुरुआत की। ग्रुप के सदस्यों ने बताया कि उन्होंने अबतक 45 प्राइमरी स्कूलों में 3 हजार विद्यार्थियों को स्टेशनरी व जरूरत का सामान दिया है। उन्होंने दसूहा, मुकेरियां, फगवाड़ा, पठानकोट, गुरदासपुर, कपूरथला के स्कूलों में बच्चो को सामान दिया है।

स्कूलों में कार्यक्रम के बाद बच्चों को देते हैं नैतिक शिक्षा

नसराला-ग्रुप के सदस्य स्कूल के बच्चों के साथ।

ग्रुप के मेंबरों ने बताया कि वह अब 50 हजार की स्टेशनरी व जरूरत का सामान 3 हजार विद्यार्थियों में बांट चुके हैं। इसके लिए नवदीप सहाएपुर, हरजोत संघा राजपुर भाईयां, फतेह कुलार नसराला, दविंदर जंडा कुरांगना, हर्ष कपूरथला, परमजीत बंगा (बेरशा), फनीश नंगल शामा, बावा नसराला, मन्ना पंडोरी खजूर, सतनाम सिंह रंधावा बरोटा व रशपाल सिंह के नाम ‘नसराला ग्रुप’ के फाउंडर मेंबरों में शामिल हैं। ग्रुप की गतिविधियों के लिए यह आपस में ही पैसे एकत्र करते हैं।

4 लड़कियों की शादी पर दिया 10-10 हजार का शगुन | ग्रुप के सदस्यों द्वारा 4 लड़कियों की शादी पर 10 हजार रुपए प्रति कन्या आर्थिक सहायता शगुन के तौर पर दी जा चुकी है। स्कूलों में कार्यक्रम के बाद विद्यार्थियों को नैतिक मूल्यों जैसे- मातृ भाषा का सम्मान करने, नशों से दूर रहने, पौधे लगाने, माता-पिता व अध्यापकों का सम्मान करने का संदेश देते हैं।

सोशल मीडिया पर रहते है सक्रिय | ग्रुप के सदस्य सोशल मीडिया पर सक्रिय रहते हैं इसके लिए उन्होंने फेस-बुक पेज के साथ-साथ यूं-ट्यूब चैनल भी शुरू किया हुआ है। जिसमें व अपने द्वारा किए कार्यों को शेयर करते रहते हैं।

X
युवाओं ने सोशल मीडिया के सहयोग से बनाया ‘नसराला ग्रुप’ छात्रों को स्टेशनरी और लड़कियों की शादी में कर रहा मदद
Astrology

Recommended

Click to listen..