• Hindi News
  • Punjab
  • Dasua
  • टांडा में पेट्रोल छिड़क एक ही परिवार के 5 लोगों को जलाने वाले मुख्यारोपी जोगिंदर सिंह की थाने में मौत
--Advertisement--

टांडा में पेट्रोल छिड़क एक ही परिवार के 5 लोगों को जलाने वाले मुख्यारोपी जोगिंदर सिंह की थाने में मौत

टॉयलेट में टोटी की ऊंचाई पांच फीट से भी कम है। आरोपी जोगिंदर की फांसी सवालों के घेरे में है। क्योंकि इतनी ऊंचाई से...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 02:05 AM IST
टांडा में पेट्रोल छिड़क एक ही परिवार के 5 लोगों को जलाने वाले मुख्यारोपी जोगिंदर सिंह की थाने में मौत
टॉयलेट में टोटी की ऊंचाई पांच फीट से भी कम है। आरोपी जोगिंदर की फांसी सवालों के घेरे में है। क्योंकि इतनी ऊंचाई से लटक कर तो दूर लेट कर भी आत्महत्या नहीं की जा सकती? यही नहीं, पुलिस थाने में जिस व्यक्ति को गिरफ्तार कर रखा जाता है उसकी पहली जिम्मेवारी एसएचओ, मुंशी और संतरी की होती है। अब यह तीनों भी ज्यूडिशियल जांच के घेरे में आ गए हैं। गौर हो कि गिरफ्तारी के समय से ही जोगिंदर चीख-चीख कर कह रहा था कि उसे मरना है। इस तरह की सोच वाले अपराधी को थाने में साधारण तरीके से रखे जाने पर भी सवाल उठ रहे हैं।

होमगार्ड के जवान को नहीं होती ट्रेनिंग, फिर भी लगा रखा था संतरी

जिस वक्त जोगिंदर ने आत्महत्या की उस वक्त थाने का संतरी होमगार्ड का जवान महिंदर सिंह ड्यूटी निभा रहा था। नियमतः: संतरी की ड्यूटी होमगार्ड नहीं निभा सकता क्योंकि होमगार्ड को संतरी की ट्रेनिंग नहीं दी जाती। चूंकि यह जिम्मेदारी वाली ड्यूटी होती है इसके लिए पंजाब पुलिस की ट्रेनिंग वाले संतरी की तैनाती होती है। एसएचओ और मुंशी की भी बड़ी जिम्मेदारी होती है। यह भी सवाल उठ रहा है कि होमगार्ड को संतरी की ड्यूटी कैसे दे दी गई।

मौके की तस्वीर... थाना टांडा के टॉयलेट में आरोपी जोगिंदर का शव इस हालत में मिला। उसके गले में पट्‌टी से बना फंदा दिखाई दे रहा है। पुलिस का दावा है कि इसी पट्‌टी से सामने दिख रही टोटी से लटकर कर इसने फांसी लगा ली है।

तस्वीर के अनुसार- टोटी की ऊंचाई इतनी कम कि बैठकर भी फंदा नहीं लग सकता

पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही दिखाती दो बातें

गिरफ्तारी के समय जोगिंदर चीख रहा था- मुझे मरना है, ऐसी सोच वाले अपराधी को साधारण तरीके से रखा

मौके पर पहुंची ड्यूटी मजिस्ट्रेट, ज्यूडिशियल जांच शुरू

नेशनल ह्यूमन राइट्स कमिशन की हिदायतों के मुताबिक न्यायिक हिरासत में जब भी ऐसा हादसा होता है तो उसकी न्यायिक जांच होती है। इस संबंध में पुलिस ने दसूहा की मजिस्ट्रेट अमनदीप कौर को मौके पर बुला लिया था। उन्होंने सारे हालातों का जायजा लिया और आरोपी की लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज अपनी जांच शुरू भी कर दी।

उधर, परमिंदर का शव रोड पर रख परिजन कर रहे थे प्रदर्शन

डीएसपी ने जाकर आरोपी की मौत की खबर दी तो धरना किया खत्म

दूसरी तरफ, इस आगजनी में बुधवार को दम तोड़ने वाली कुलदीप सिंह की बेटी परमिंदर कौर के शव को पीड़ित परिवार के गुरदीप सिंह, हरदीप कौर, लक्ष्मण सिंह, सुरिंदर जाजा, जगतार तारी और गुरमीत बिट्टू ने जीटी रोड पर रख आरोपी की मां की गिरफ्तारी की मांग करते रहे। इस दौरान जाम की स्थिति बन गई। डीएसपी दसूहा ने आरोपी की आत्महत्या की सूचना और उसकी मां की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया तो पीड़ित परिवार ने जाम खोला।

जांच के बाद ही होगी कार्रवाई : एसएसपी

पूरे मामले पर होशियारपुर के एसएसपी जे. ईलनचेजियन ने कहा कि अभी इस मामले कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। मामले की ज्यूडिशियल जांच शुरू हो चुकी है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही कोई कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

X
टांडा में पेट्रोल छिड़क एक ही परिवार के 5 लोगों को जलाने वाले मुख्यारोपी जोगिंदर सिंह की थाने में मौत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..