Hindi News »Punjab »Datarpur» दातारपुर में बाबा लाल दयाल जी के 663वें जन्मोत्सव पर मेला कल

दातारपुर में बाबा लाल दयाल जी के 663वें जन्मोत्सव पर मेला कल

दातारपुर| महान वैष्णव संत बाबा लाल दयाल महाराज का 663वां जन्मोत्सव कल 19 जनवरी दिन शुक्रवार को गद्दीनशीन महंत रमेश...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 18, 2018, 04:05 AM IST

दातारपुर| महान वैष्णव संत बाबा लाल दयाल महाराज का 663वां जन्मोत्सव कल 19 जनवरी दिन शुक्रवार को गद्दीनशीन महंत रमेश दास महाराज की अध्यक्षता में भक्तों द्वारा श्रद्धापूर्वक मनाया जाएगा।

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम तथा सोलह कला संपूर्ण श्री कृष्ण जी के अंश स्वरूप वैष्णवाचार बाबा लाल दयाल महाराज जी माता कृष्णावती तथा पिता भोला नाथ निवासी गांव कसूर लाहौर के घर संवत 1412 की माघ शुक्ला द्वितीय को अवतरित हुए। आठ दस वर्ष की आयु पाते ही यह सभी प्रकार की विधियों का ज्ञान प्राप्त करने के सक्षम हुए तथा गृहस्थी छोड़कर चैतन्य स्वामी की शरण में पहुंच गए। जिस दिन स्वामी जी ने अपने पांवों का चूल्हा बनाकर चावल पकाए तो उसी दिन बाबा लाल दयाल जी ने भी उनमें से कुछ दानों का सेवन किया तथा पूर्ण ब्रह्मज्ञान प्राप्त किया। सतगुरु बाबा लाल दयाल जी ने देश भ्रमण करते हुए मानव जाति का प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। बाबा लाल दयाल जी की 22 गद्दियां हुई इनमें से दातारपुर, रामपुर भी उल्लेखनीय है। दातारपुर और रामपुर की पावन धरती जिसे बाबा लाल दयाल जी के चरणों ने पवित्र बनाया है।

इन दरबारों पर जो भी भक्त सच्चे मन व श्रद्धा से फरियाद लेकर आता है उसकी हर मनोकामना पूरी होती है। कल शुक्रवार को बाबा लाल दयाल जी के जन्मोत्सव पर दातारपुर दरबार पर पंजाब, हरियाणा, जम्मू, दिल्ली, हिमाचल आदि राज्यों से भारी तादाद मे भक्तजनों का जन सैलाब उमड़ेगा।

दातारपुर दरबार मे सजी बाबा लाल दयाल जी की सुंदर प्रतिमा। -भास्कर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Datarpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: daataarpur mein baba laal dyaal ji ke 663ven jnmotsv par melaa kl
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Datarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×