Hindi News »Punjab »Datarpur» संस्कार स्कूल में बच्चों और अभिभावकों को एमआर बीमारी के लक्ष्ण बताए

संस्कार स्कूल में बच्चों और अभिभावकों को एमआर बीमारी के लक्ष्ण बताए

भास्कर संवाददाता | दातारपुर दातारपुर से झीर दा खुई रोड पर स्थित आदर्श नगर के संस्कार वैली स्कूल मे दो दिवसीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 10, 2018, 02:05 AM IST

संस्कार स्कूल में बच्चों और अभिभावकों को एमआर बीमारी के लक्ष्ण बताए
भास्कर संवाददाता | दातारपुर

दातारपुर से झीर दा खुई रोड पर स्थित आदर्श नगर के संस्कार वैली स्कूल मे दो दिवसीय मेडिकल कैंप लगाकर 70 बच्चों को एमआर के टीके लगाए। स्कूल प्रिंसिपल अनिल कुमार के नेतृत्व में लगाए कैंप में मिनी प्राइमरी हेल्थ सेंटर की मेडिकल अफसर डॉ. सोनिया ने बच्चों और उनके माता पिता को खसरा व रुबेला बीमारी शुरू होने के लक्ष्ण बताए। उन्होंने कहा कि खसरे की बीमारी किसी भी उम्र मे हो सकती है, तेज बुखार, नजला, आंखों का लाल होना और आंखों से पानी निकलना यह खसरे की बीमारी होने के संकेत है। डॉ. सोनिया ने बताया कि रुबेला बीमारी की शुरुआत मुंह और शरीर पर छोटे छोटे दाने निकलना, हल्का बुखार व खांसी आदि से होती है। उन्होंने कहा कि अगर घर मे परिवार के किसी भी सदस्य मे ऐसे लक्ष्ण दिखाई देते है जल्द डॉक्टर को चेकअप करवा कर ही दवाई लें। इस मौके एलएचवी प्रवीण कुमारी, एएनएम सुषमा रानी, आशा वर्कर रजनी, पुष्पा, सुरिंदर व स्कूल स्टाफ से पूनम, रवीना, पूजा, वंदना, राणो, रजनी, रूचिका, कुलवंत मौजूद थे।

संस्कार वैली स्कूल मे एमआर टीके लगवाने वाले बच्चों व उनके माता पिता के साथ एमओ डॉ. सोनिया और प्रिंसिपल। -भास्कर

आज और कल राणा गजेंद्र चंद स्कूल में लगेगा एमआर का टीका : एसएमओ

गढ़शंकर| पीएचसी पोसी इलाके में अब तक बीत इलाके में कुल 16 स्कूल कवर करके 978 बच्चों को एमआर टीका लगाया गया है। 10 और 11 मई को ब्रह्मानंद भूरी वाले राणा गजेंद्र चंद पब्लिक स्कूल, गढ़ीमानसोवाल में करीब 1200 बच्चों को सुपरवाइजर डॉ. बलजिंदर सिंह व डॉ. रणवीर कौर की अध्यक्षता में कवर किया जाएगा। पीएचसी पोसी की एसएमओ डॉ. परमजीत कौर ने लोगों से अपील की कि सभी लोग बच्चों को एमआर टीका जरूर लगवाएं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Datarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×