Hindi News »Punjab »Datarpur» श्रीमद् भागवत कथा में श्री कृष्ण जी के जयघोष लगाए

श्रीमद् भागवत कथा में श्री कृष्ण जी के जयघोष लगाए

नजदीकी गांव रकडी के शिव मंदिर मे आयोजित सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा को रविवार को भगवान श्री कृष्ण जी के उच्चे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 04, 2018, 02:10 AM IST

श्रीमद् भागवत कथा में श्री कृष्ण जी के जयघोष लगाए
नजदीकी गांव रकडी के शिव मंदिर मे आयोजित सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा को रविवार को भगवान श्री कृष्ण जी के उच्चे जयघोषों के साथ विराम दिया गया। कथावाचक जनकपुरी धाम से पधारे विजय कौशल महाराज जी ने कहा कि लगातार सात दिन व रात को बहाई गईं अमृत वर्षा में डुबकी लगाने वालों का भगवान जरूर कल्याण करेंगे और साथ ही साथ जो भक्तजन घरों मे बैठकर कथा का उच्चारण ग्रहण करते थे व किसी न किसी रूप मे इस समागम मे सेवा करते थे उनको भी बराबर ही फल मिलेगा। कथावाचक विजय कौशल महाराज जी ने कहा कि जरूरी नहीं है कि मंदिर, मस्जिद या गुरुद्वारे जाने वालो पर ही भगवान की कृपा होती है, कृपा उन पर भी होती है जो भगवान के प्यारे भक्त घरो मे बैठ कर ही सच्चे मन व निष्ठा से परमात्मा के नाम का जाप करते हैं और मन ही मन मे भगवान को याद करते हैं। बैठक में दसूहा नगर कमेटी के उप प्रधान एडवोकेट सरदार कर्मवीर सिंह घुम्मन ने हाजरी लगवा कर कथा का उच्चारण ग्रहण किया। इस मौके पर स्वामी मिथिलेश दास महाराज, सतीश मेहता, पवन कुमार, रिची मेहता, जोगिन्दर शर्मा, अनिल गोला, वीरभद्र, विपन, सौरव, सरजीवन, राम लुभाया, सोम राज, बॉबी कौशल, सरदार पवित्रपाल सिंह लवली, सन्नी, मन्नी, अंकित, सुषमा, कमलेश, अंजू, शांति, अनीता, सुलक्षणा, ममता, पूजा, नीना सहित बहुत सारे भक्तजन हाजिर थे।

उपप्रधान एडवोकेट कर्मवीर सिंह घुम्मन ने लगाई हाजिरी

कर्मवीर सिंह घुम्मन को सम्मानित करते सतीश मेहता, अनिल गोला।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Datarpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: श्रीमद् भागवत कथा में श्री कृष्ण जी के जयघोष लगाए
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Datarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×