धर्मकोट

--Advertisement--

मोगा-फरीदकोट भास्कर

बुराई को देखना और सुनना ही बुराई की शुरुआत है। -कन्फ्यूशियस कोटकपूरा जैतो ...

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 02:10 AM IST
बुराई को देखना और सुनना ही बुराई की शुरुआत है।

-कन्फ्यूशियस

कोटकपूरा
बठिंडा, वीरवार 25 जनवरी, 2018



माघ, शुक्ल पक्ष अष्टमी, 2074

पप्पू की छत टपक रही थी ठीक डाइनिंग टेबल के ऊपर... पलंबर ने पूछा- आपको कब पता चला? पप्पू- कल रात को जब मेरा पैग तीन घंटे तक ख़त्म नहीं हुआ।

X
Click to listen..