--Advertisement--

मोगा में दूसरे दिन भी ठप रहा अवैध खनन

Dainik Bhaskar

Mar 09, 2018, 02:10 AM IST

Dharamkot News - पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने मंगलवार को हवाई सफर दौरान अवैध माइनिंग का मामला पकड़ कर तीखे तेवर...

मोगा में दूसरे दिन भी ठप रहा अवैध खनन
पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने मंगलवार को हवाई सफर दौरान अवैध माइनिंग का मामला पकड़ कर तीखे तेवर दिखाए हैं। परंतु सवाल यह खड़ा होता है कि उनके फ्री हैंड अधिकारी अब तक क्या कर रहे थे। यहां अधिकारियों की कैप्टन के प्रति जवाबदेही का सवाल खड़ा हो गया है। अवैध माइनिंग वाले मामले में यह अधिकारी पहले ही टेस्ट में फेल हो गए हैं।

कैप्टन द्वारा लगातार पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को अवैध माइनिंग व गुंडा टैक्स वसूलने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए जा रहे हैं। 28 फरवरी को सभी डीसी व एसएसपी के साथ मीटिंग भी की गई। इस बारे अपने फेसबुक पेज पर शेयर की गई पोस्ट में कैप्टन ने मीटिंग में अधिकारियों को दिए गए निर्देशों के बारे में जनता के साथ जानकारी भी सांझा की। कैप्टन द्वारा ऑफसरों को साफ कहा गया कि सरकार बनने को 1 वर्ष बीतने के बाद अब भ्रष्टाचार या किसी तरह के अवैध कारोबार को खत्म करने के मामले में कोई ढील बर्दाश्त नहीं की जा सकती है। कैप्टन ने भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए अधिकारियों को बड़ी मछलियों को काबू करने के काम में तेजी लाने के आदेश तो दिए थे लेकिन अवैध खनन व गुंडा टैक्स की वसूली रोकने के लिए सख्ती बरतने की सीधी एसएसपी की जिम्मेदारी तय होने की बात भी साफ कर दी थी। इसके 5 दिन बाद कैप्टन जब एक समारोह में शामिल होने के लिए चंडीगढ़ से करतारपुर जा रहे थे तो हवाई सफर दौरान सतलुज दरिया में अवैध माइनिंग होती देखकर उनका पारा 7वें आसमान पर पहुंच गया। इस पर फिल्लौर व नवांशहर के डीसी व एसएसपी से रिपोर्ट तलब करते हुए अवैध खनन में लगी मशीनरी जब्त करने के आदेश दिए।

वीरवार को वैध खड्डों में चल रहा रेत खनन का काम।

5 वैध खड्डों में से 4 में हुआ काम

पिछले डेढ़ दशक से मोगा क्षेत्र में धड़ल्ले से चल रही अवध माइनिंग कैप्टन के राज्य में भी 1 साल चलती रही लेकिन मंगलवार को कैप्टन के कड़े रुख के बाद वीरवार को दूसरे दिन भी सतलुज पर अवैध माइनिंग का काम ठप रहा। 5 वैध खड्डों में से बुधवार को 3 ही चलीं, जबकि वीरवार को 4 खड्डों में काम चला।

यहां पहले हुई पुलिस कार्रवाई |
यहां होती थी वैध माइनिंग मोगा जिले में सरकारी तौर पर कोटसदर खां, दरगाह सैद, चक्करतारा, चक्कर भौरा, गट्टी जंटा, मोहम्मद सैद, सघेडां, आदर मान, चक्क सिंह पुरा शामिल है।

यहां अवैध खनन होता था अवैध तौर पर रेत खनन का काम कस्बा धर्मकोट के वंझली, शेरपुरा समेत कई जगह लोग रोजाना बड़ी मशीनें व टिप्पर लगाकर अवैध रेत खनन का धंधा करते रहे हैं।

X
मोगा में दूसरे दिन भी ठप रहा अवैध खनन
Astrology

Recommended

Click to listen..