• Home
  • Punjab News
  • Dharamkot News
  • भिंडर कलां गांव में गरीबों के राशन कार्ड रद्द किए जाने से लोगों में रोष
--Advertisement--

भिंडर कलां गांव में गरीबों के राशन कार्ड रद्द किए जाने से लोगों में रोष

पूर्व शिअद-भाजपा गठजोड़ सरकार की ओर से पंजाब के गरीब वर्ग तथा जरूरतमंद लोगों के लिए आटा-दाल स्कीम के तहत सस्ते राशन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:20 AM IST
पूर्व शिअद-भाजपा गठजोड़ सरकार की ओर से पंजाब के गरीब वर्ग तथा जरूरतमंद लोगों के लिए आटा-दाल स्कीम के तहत सस्ते राशन का वितरण शुरू किया गया था, लेकिन कांग्रेस सरकार के दौरान इस स्कीम का लाभ प्राप्त कर रहे गांव भिंडरकलां के कुछ गरीब लोगों के राशन कार्ड काटे जाने के कारण उनमें रोष व्याप्त है।

इस संबंधी गांव वासी बचन सिंह, कर्म सिंह, अजमेर सिंह, चढ़त सिंह, मलकीत सिंह, निर्मल सिंह, अमरजीत सिंह, राज सिंह, बिल्लू सिंह, चानन सिंह के अलावा भारी संख्या में महिलाओं ने आरोप लगाया कि सरकार के बदलते ही सत्तारूढ़ पक्ष से संबंधित नेताओं की ओर से वोटों की राजनीति करते हुए कुछ गरीबों के राशन कार्ड रद्द कर करवा दिए गए हैं। जबकि वह लंबे समय से इस स्कीम के तहत लगातार सस्ती गेहूं लेते रहे थे। उनका कहना है कि जब वे डिपो होल्डर से वह गेहूं लेने के लिए गए, तो डिपो होल्डर कहने लगा कि आपका राशन कार्ड काटा गया है तथा आप धर्मकोट जाकर संबंधित दफ्तर से संपर्क करो। गांववासियों ने कहा कि राशन कार्ड काटने के विरोध में 2 अप्रैल को डीसी दफ्तर के आगे धरना देंगे। जब डिपो होल्डर मलकीत सिंह से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि यह राशन कार्ड संबंधित विभाग की ओर से ही काटे गए हैं, इससे मेरा कोई लेनादेना नहीं है। जिस लाभपात्री की गेहूं मेरे पास आई है, मैं उसको दे रहा हूं।

गांव भिंडर कलां में रद्द किए गए राशन कार्डों संबंधी जानकारी देते गांववासी।