Hindi News »Punjab »Dharamkot» किसान बोला-पुलिस जांच करने गई तो हो रही थी माइनिंग, फिर भी कार्रवाई नहीं

किसान बोला-पुलिस जांच करने गई तो हो रही थी माइनिंग, फिर भी कार्रवाई नहीं

जिला प्रशासन व पुलिस से इंसाफ न मिलने पर रेत माफिया से दुखी व आतंकित किसान ने अपने खेत में परिवार समेत आत्मदाह करने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 28, 2018, 02:20 AM IST

किसान बोला-पुलिस जांच करने गई तो हो रही थी माइनिंग, फिर भी कार्रवाई नहीं
जिला प्रशासन व पुलिस से इंसाफ न मिलने पर रेत माफिया से दुखी व आतंकित किसान ने अपने खेत में परिवार समेत आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। साथ ही उसने अपने खेत में अवैध ढंग से निकाली जा रही रेत के संबंध में डीएसपी व एसडीएम (धर्मकोट) को लिखित शिकायत दी है। पुलिस द्वारा उसके साथ जाकर मौके पर अवैध माइनिंग देखने के बाद भी कोई एक्शन नहीं लिया गया।

मक्खू कस्बे के गांव जोगेवाला निवासी जगवंत सिंह ने बताया कि उसने कई साल पहले जिला मोगा के गांव कमालके में 58 कनाल 11 मरले जमीन व गट्टी कमालके में 58 कनाल 11 मरले जमीन खरीदी थी। उसकी जमीन दरिया के साथ लगने के चलते वह ज्यादातर इस जमीन पर ध्यान नहीं देता था। इस बात का फायदा उठाकर रेत माफिया ने उसके खेतों से रेत निकालनी शुरू कर दी। इस बात का पता चलने पर उसने एसडीएम जीएस जौहल व डीएसपी (धर्मकोट) अजय राज सिंह को 22 मार्च को शिकायत देकर अवैध माइनिंग के संबंध में जानकारी दी। इस पर कमालके चौकी के एएसआई कुलदीप कुमार समेत दो पुलिस कर्मी उसके साथ मौके पर गए तथा उन्होंने देखा कि वहां माइनिंग हो रही थी। इसकी उन्होंने वीडियो भी बनाई है। इसके बाद उन्होंने पुलिस वालों से कहा कि वह आगे बढ़कर अवैध माइनिंग को रोकें लेकिन उन्होंने कहा कि वह रिपोर्ट सीनियर अधिकारियों को देंगे। वही आगे की कार्रवाई करेंगे। किसान जगवंत सिंह ने रेत माफिया के खिलाफ शिकायत में उनके नाम जरनैल सिंह, अजीत सिंह, मक्खन सिंह, अमर सिंह, भगत सिंह बताई है।

गांव कमालके में हो रही अवैध माइनिंग व मजदूर वहां काम करते हुए।

नोटिस दिया जाएगा

25 मार्च को डीएसपी धर्मकोट अजय राज सिंह के साथ माइनिंग विभाग के इंस्पेक्टर राजन मौके पर गए थे। पटवारी ने जमीन की जमाबंदी उपलब्ध करवा दी है। अवैध माइनिंग करने वालों को नोटिस दिया जाएगा। गुरजंट सिंह, माइनिंग अधिकारी

इलाके में 10 एकड़ जमीन में अवैध माइनिंग हुई

कमालके इलाके में 10 एकड़ जमीन में माइनिंग 6 फुट तक हुई है। लेकिन जमाबंदी के अनुसार वह जमीन केंद्र सरकार की है। राजन, माइनिंग इंस्पेक्टर

किसान जगवंत सिंह शिकायत संबंधी जानकारी देते हुए।

माइनिंग नहीं हो रही थी

शिकायतकर्ता द्वारा जिस जमीन में अवैध माइनिंग की बात कही जा रही है, उस संबंधी पटवारी व कानूनगो से जानकारी मांगी गई है कि वह जमीन किसकी है। साथ ही वहां पर किसी तरह की माइनिंग नहीं हो रही है। अजय राज सिंह, डीएसपी

हम मौके पर गए थे

हम तहसीलदार रमेश कुमार व नायब तहसीलदार परशोतम के साथ मौका देखने के लिए गए थे। वहां अवैध माइनिंग जैसी कोई बात नहीं थी। शायद पहले कभी रेत खनन हुआ हो। जीएस जोहल, एसडीएम (धर्मकोट)

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dharamkot

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×