Hindi News »Punjab »Dharamkot» गुरु रामदास अस्पताल से गर्भपात के औजार मिले टीम से बदसलूकी करने वाली महिला पर केस

गुरु रामदास अस्पताल से गर्भपात के औजार मिले टीम से बदसलूकी करने वाली महिला पर केस

सेहत विभाग की ओर से गांव फतेहगढ़ पजंतूर स्थित गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल व स्कैनिंग सेंटर में रेड के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 17, 2018, 02:25 AM IST

सेहत विभाग की ओर से गांव फतेहगढ़ पजंतूर स्थित गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल व स्कैनिंग सेंटर में रेड के दौरान बरामद गर्भपात करने वाले औजारों को सील करके पुलिस को सौंप दिए हैं। साथ ही सेहत विभाग के दो अधिकारियों की ओर से पुलिस को लिखित शिकायत देकर अस्पताल के मालिक के खिलाफ बनती कानूनी कार्रवाई करने की सिफारिश की गई है। पुलिस ने महिला समेत कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

जानकारी अनुसार गांव फतेहगढ़ पजंतूर स्थित गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल व स्कैन सेंटर जोकि गांव के बाहर जंगल में बना हुआ है। वहां पर सेहत विभाग की टीम द्वारा रेड पर वहां मौजूद सभी लोग फरार हो गए। जबकि इस अस्पताल व स्कैन सेंटर में गर्भवती महिलाओं के गर्भपात करने वाले औजार मिले। जोकि सेहत विभाग की टीम द्वारा सील कर दिए गए। अस्पताल व स्कैन सेंटर द्वारा मेडिकल टर्मिनेशन आफ प्रेगनेंसी एक्ट 1971 की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही थीं, जिसका सबूत है गर्भपात करने वाले औजारों का अस्पताल से मिलना है।

सेहत विभाग की टीम ने औजारों को सील करके डीआईओ हरिद्र शर्मा व एसएमओ कोटईसेखां डॉक्टर अमरीक सिंह द्वारा थाना फतेहगढ़ पंजतूर में जाकर गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल व स्कैन सेंटर से मिले सील औजारों को जमा करवाने के साथ पुलिस के रोजनामा रजिस्टर में अपने हस्ताक्षर किए। साथ ही दोनों सेहत विभाग के अधिकारियों द्वारा गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी सेंटर के खिलाफ बनती कानूनी कार्रवाई करने की लिखित शिकायत दी गई है।

5 मई 2017 को सिरसा से आई सेहत विभाग व पुलिस की टीम ने लिंग निर्धारण करने का किया था खुलासा

इससे पहले 5 मई 2017 को सिरसा से आई सेहत विभाग व पुलिस की टीम ने मोगा सेहत विभाग के अधिकारियों को पहले धर्मकोट तथा वहां से कोटईसेखां फिर फतेहगढ़ पंजतूर आने के लिए कहा। दोनों राज्यों की टीमों ने एक साथ गांव फतेहगढ़ पजंतूर स्थित गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल व स्कैन सेंटर में रेड की। इस दौरान स्कैन सेंटर में कविता नामक गर्भवती महिला का लाल पगड़ी धारी व्यक्ति द्वारा स्कैन किया जा रहा था। उसने गर्भवती महिला को बताया कि गर्भ में पल रहा बच्चा लड़की है। इसके बाद कविता व उसके साथी सुरेंद्र कुमार ने 25 हजार रुपया उनको दे दिया। इसी बीच 14 हजार रुपए लाल पगड़ी पहने व्यक्ति ने रख लिए, जबकि 11 हजार रुपए मलोट निवासी महिला सलोचना जोकि आशा वर्कर बताई जा रही है के पास थे। सेहत विभाग की रेड के दौरान लाल पगड़ी पहना व्यक्ति फरार हो गया। लेकिन पुलिस ने सलोचना को 11 हजार रुपए समेत गिरफ्तार कर लिया।

महिला स्टाफ ने परेशान करने का लगाया आरोप|सेहत विभाग की कार्रवाई के दौरान वहां मौजूद महिला भूपिंदर कौर द्वारा रेड करने गई टीम के साथ बदसलूकी की गई। इतना ही नहीं वह जिला परिवार नियोजन अधिकारी से कही कि वह हर दूसरे चौथे दिन पुलिस लेकर उनके अस्पताल में रेड करने आ जाते हैं तथा बिना बजह उनको परेशान किया जाता है। दूसरी ओर अस्पताल में एमडी मेडिसिन के तौर पर सेवाएं देने वाले डॉक्टर गुरमीत सिंह कथूरिया ने कहा कि वह एक साल से बीमार होने के चलते अस्पताल की ऊपरी मंजिल पर बिस्तर पर पड़े रहते हैं। एक साल से उन्होंने न तो मरीज का चेकअप किया है और न ही उपचार किया है।

थाना फतेहगढ़ में केस दर्ज

थाना फतेहगढ़ पंजतूर के एएसआई अवनीत सिंह ने बताया कि कोटईसेखां सरकारी अस्पताल के सीनियर मेडिकल अधिकारी डॉक्टर अमरीक सिंह की शिकायत पर गुरु रामदास मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल व स्कैन सेंटर की भूपिंदर कौर व कुछ अज्ञात लोगों पर पीएनडीटी एक्ट 1994 की धारा 23,25 के तहत केस दर्ज किया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dharamkot

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×