Hindi News »Punjab »Dharamkot» गबन का विरोध करने वाले युवक पर शादी समारोह में चलाई गोलियां, एक जांघ में लगी

गबन का विरोध करने वाले युवक पर शादी समारोह में चलाई गोलियां, एक जांघ में लगी

शादीसमारोह में पुरानी रंजिश को लेकर हुए झगड़े में एक पक्ष के लोगों ने पैलेस में फायरिंग कर दी। इससे एक युवक की जांघ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 07, 2018, 10:00 AM IST

शादीसमारोह में पुरानी रंजिश को लेकर हुए झगड़े में एक पक्ष के लोगों ने पैलेस में फायरिंग कर दी। इससे एक युवक की जांघ पर गोली लगने से वह घायल हो गया। हमलावरों से जान बचाने के लिए वह परिवार समेत पैलेस से गाड़ी भगाकर अस्पताल पहुंचा और वहां दाखिल हुआ। पुलिस ने घायल के बयान पर पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। दूसरी ओर एक सप्ताह पहले राज्य के डीजीपी द्वारा जिले के सभी एसएसपी थानों को पत्र जारी कर अपने-अपने इलाके के सभी होटलों मैरिज पैलेसों को नो फायर जोन बनाने के आदेश दिए थे। इसके बावजूद पैलेस में गोली चलना डीजीपी के आदेश की उल्लंघना है। वहीं डीसी द्वारा पैलेस में हथियार लेकर जाने पर पाबंदी के बावजूद उक्त लोगों द्वारा हथियार ले जाकर गोली चलाना भी डीसी के आदेशों की अनदेखी करने के मामले में केस दर्ज किया है।

थाना धर्मकोट के एएसआई गुरदेव सिंह ने बताया कि जीरा के गांव बग्गी प|ी निवासी गुरजिंदरपाल सिंह ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि उसके गांव वासी दोस्त सुखविंदर सिंह की 3 जनवरी को शादी के चलते कस्बा धर्मकोट के शगुन पैलेस में बारात आई थी। वह अपने चाचा, प|ी और बच्चों के साथ शादी में शामिल होने के लिए पैलेस में पहुंचा था। इसी बीच जीरा के गांव बघेलेवाला निवासी बलवीर सिंह अपने परिवार के साथ शादी में पहुंचा हुआ था। जैसे ही उक्त लोगों ने उसे शादी में आया देखा तो उसके पास आकर विवाद करने लगे। उसके द्वारा विरोध करने पर उन लोगों ने अपने साथ लाए हथियार से उस पर गोलियां चला दी। इस दौरान उक्त लोगों ने दो गाेलियां चलाई जिससे बचते हुए वह अपने परिवार समेत भागकर गाड़ी के पास पहुंचा और गाड़ी में बैठने लगा। इतने में हमलावरों द्वारा चलाई गई दो गोली में से एक गोली उसकी जांघ में लग गई, जिससे वह घायल हो गया। उसने गाड़ी भगाकर कोटईसेखां के निजी अस्पताल में ले गया, जहां उसका इलाज चल रहा है।

नो फायर जोन को लेकर पुलिस गंभीर नहीं

एकसप्ताह पहले राज्य के डीजीपी सुरेश अरोड़ा द्वारा सभी जिलों के एसएसपी थानों के एसएचओ को पत्र जारी करके आदेश दिए थे कि होटलों मैरिज पैलेसों को नो फायर जोन बनाया जाए। यहां फ्लैक्स बोर्ड लगाने के आदेश दिए गए थे कि वहां आने वाला प्रत्येक व्यक्ति बिना असलहे के पैलेस होटल में दाखिल होगा। लेकिन नो फायर जोन को लेकर पुलिस गंभीर नहीं दिख रही।

घायल गुरजिंदरपाल सिंह ने बताया कि उनके द्वारा कोआपरेटिव सोसायटी से कर्जा लिया गया था। जिसे अप्रैल 2017 में उनके द्वारा जमा करवा दिया गया था। पंजाब सरकार द्वारा स्कीम थी कि किसानों को कर्ज पर 50 हजार रुपए माफी दी गई थी। लेकिन वह माफी के 50 हजार रुपए की राशि कोआपरेटिव सोसायटी बघेलेवाला का सेक्रेटरी बलवीर सिंह हड़प कर गया। जब इस बारे में उसे पता चला तो उसने जीरा में मुख्य ब्रांच के मैनेजर के पास शिकायत की। बाद में गांव की पंचायत बैठी और उसमें कोआपरेटिव सोसायटी के सेक्रेटरी बलवीर सिंह ने माफी मांगी और 50 हजार रुपए देने की बात कबूल कर ली थी। छह महीने पहले बलबीर सिंह ने गबन के 50 हजार रुपए की राशि उसे लौटा दी थी। लेकिन उक्त व्यक्ति उसके साथ रंजिश रखने लगा था कि उसकी विभाग में और गांव में बेइज्जती हुई है।

निजी अस्पताल में दाखिल गुरजिंदरपाल सिंह इलाज करवाता हुआ।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dharamkot

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×