धर्मकोट

--Advertisement--

मोगा-फरीदकोट भास्कर

बिना सेहत के जीवन, जीवन नहीं है, बस पीड़ा की एक स्थिति है। मौत की छवि है। -भगवानगौतम बुद्ध कोटकपूरा ...

Dainik Bhaskar

Jan 31, 2018, 09:30 PM IST
बिना सेहत के जीवन, जीवन नहीं है, बस पीड़ा की एक स्थिति है। मौत की छवि है।

-भगवानगौतम बुद्ध

कोटकपूरा
बठिंडा, बुधवार 31 जनवरी, 2018



माघ, शुक्ल पक्ष पूर्णिमा, 2074

प|ी (बड़े प्यार से)- सुनिए जी, मेरी स्किन बहुत ऑयली-ऑयली सी हो गई है, बताइए न, मैं क्या लगाऊं? पति- ये लो विम बार, ये पूरी चिकनाई हटा देगा।

X
Click to listen..