• Hindi News
  • Punjab
  • Dhuri
  • जल ही जीवन के बावजूद हम इसके सरंक्षण को लेकर लापरवाह : मान
--Advertisement--

जल ही जीवन के बावजूद हम इसके सरंक्षण को लेकर लापरवाह : मान

Dainik Bhaskar

Mar 19, 2018, 02:15 AM IST

Dhuri News - साइंटिफिक अवेयरनेस एंड सोशल वेलफेयर फोरम द्वारा मड़ाहड़ पावर सेंटर ककड़वाल में पानी ही जीवन है, पानी की बचत व पानी...

जल ही जीवन के बावजूद हम इसके सरंक्षण को लेकर लापरवाह : मान
साइंटिफिक अवेयरनेस एंड सोशल वेलफेयर फोरम द्वारा मड़ाहड़ पावर सेंटर ककड़वाल में पानी ही जीवन है, पानी की बचत व पानी की संभाल विषय पर सेमिनार कराया गया। इस मौके पर फोरम के प्रधान डाॅ. एएस मान ने कहा कि जल ही जीवन है, लेकिन बावजूद हम पानी को लेकर पूरी तरह से लापरवाह हैं। गुरुबाणी में भी पानी को पिता का दर्जा मिला है। लेकिन हालत यह है पंजाब के 138 ब्लॉकों में से 110 ब्लॉकों में पानी का स्तर बेहद नीचे चला गया है। हम मुफ्त बिजली के चक्कर में 15 लाख ट्यूबवैलों से दिन रात धरती से पीने वाला पानी खींच रहे हैं तथा धान के सीजन में महीनों पूरे पंजाब में 2-2 फीट पानी खेतों में खड़ा रखते हैं। सेमिनार में मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद लेखक व कालम नवीस गुरचरण सिंह नूरपुर ने कहा कि आने वाले समय में मनुष्य के लिए सबसे कीमती वस्तु पानी ही होगा, लेकिन अफसोस की बात है कि आज हम पानी की महत्ता को नहीं समझ रहे हैं। आज धान की फसल की बुआई तुरंत बंद करने तथा बारिश के पानी को रिचार्ज करने के लिए बड़े प्रयास करने की जरूरत है। यदि ऐसा ना हुआ तो वह दिन दूर नहीं जब पंजाब के लोग पानी की बूंद-बूंद को तरसने के लिए मजबूर होंगे। डाॅ. अमर सिंह ने कहा कि कृषि के लिए 70 प्रतिशत, इंडस्ट्री के लिए 20 प्रतिशत और घरेलू प्रयोग के लिए 10 प्रतिशत के करीब पानी का इस्तेमाल होता है। कृषि के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कुल पानी का 70-80 प्रतिशत पानी धरती की निचली तीसरी परत का और 20-30 प्रतिशत पानी धरती की ऊपरी सतह का होता है। असल में होना इसके विपरीत चाहिए। इस मौके पर जय सिंह चेयरमैन मड़ाहड़ पावर कंट्रोल लिमिटेड, डाॅ. सुखचरणजीत गोसल, सुरिन्द्र शर्मा, आरपी. सिंह, डाॅ. अवतार सिंह ढींढसा, अमरीक सिंह गागा, सुखदेव शर्मा, प्रो. वीके शर्मा आदि ने भी अपने विचार सांझे किए। इस अवसर पर सेवामुक्त प्रिंसिपल बुध राम, जसविंदर कुमार, जोगा सिंह, मिश्रा, मुखत्यार और राजिंदर आदि मौजूद थे। (राजेश टोनी)

साइंटिफिक अवेयरनेस एंड सोशल वेलफेयर फोरम के सेमिनार में लोगों को संबोधित करते हुए गुरचरण सिंह नुरपूर।

X
जल ही जीवन के बावजूद हम इसके सरंक्षण को लेकर लापरवाह : मान
Astrology

Recommended

Click to listen..