• Hindi News
  • Punjab
  • Dhuri
  • हामिद मेले से खिलौने की बजाय दादी के लिए लाया चिमटा...
--Advertisement--

हामिद मेले से खिलौने की बजाय दादी के लिए लाया चिमटा...

रंगशाला थिएटर ग्रुप द्वारा राम वाटिका बग्गीखाना के मंच पर चल रहे दो दिवसीय परमजीत गागा मेमोरियल थिएटर फेस्टीवल...

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 02:20 AM IST
हामिद मेले से खिलौने की बजाय दादी के लिए लाया चिमटा...
रंगशाला थिएटर ग्रुप द्वारा राम वाटिका बग्गीखाना के मंच पर चल रहे दो दिवसीय परमजीत गागा मेमोरियल थिएटर फेस्टीवल के पहले दिन विश्व रंगमंच दिवस के अवसर पर दो नाटकों का मंचन किया गया। पहला पंजाबी नाटक चिचड़ी जोकि हिंदी नाटककार उपेन्द्रनाथ अष्क द्वारा लिखे नाटक जोक का पंजाबी रूपांतर है तथा दूसरा नाटक मुंशी प्रेमचंद की कहानी पर आधारित था। दोनों नाटकों का निर्देशन यश ने किया। पहला नाटक मध्यवर्गीय परिवार की कहानी पर आधारित था। उनके घर एक बिन बुलाया मेहमान आ टपकता है। जिसके बाद वह घर से निकलने का नाम नहीं लेता। उसे घर से निकालने की सभी कोशिशें बेकार जाती हैं। इस नाटक में ऋषि कुमार शर्मा, रंजीत लड्डा, मुस्कान शर्मा, गुरदर्शन सिंह टीवाना, सुखजिंदर कौर, दीप राजदान, अमरीक गागा, टोनी संद्धू, दीप धालीवाल, लक्ष्य दीवान, प्रद्युमन कौशल, मंशा आहुजा तथा यश ने अभिनय किया।

दूसरा नाटक ईदगाह जोकि ईद के मेले की कहानी पर आधारित था। नाटक में दिखाया गया कि सभी बच्चे गांव से शहर की तरफ ईद का मेला देखने के लिए निकलते हैं। सभी बच्चे अच्छे कपड़े पहने हुए हैं और उनकी जेब पैसों से भरी हुई है लेकिन एक बच्चा हामिद ऐसा भी है जिसके मां बाप नहीं हैं और उसकी दादी उसे जैसे तैसे करके तीन पैसे देकर मेला देखने भेजती है। मेले में सभी बच्चे खिलौने खरीदते हैं और मिठाइयां खाते हैं लेकिन हामिद तीन पैसे का चिमटा खरीदता है क्योंकि उसकी दादी जब रोटी पकाती है तो उसके हाथ जल जाते हैं। हामिद जब चिमटा लेकर घर पहुंचता है तो उसकी दादी चिमटा देखकर भावुक हो जाती है और हामिद को सीने से लगा लेती है। इस दृश्य ने दर्शकों की आंखें नम कर दी। इस नाटक में गर्व गुप्ता, छवि बाधवा, मुस्कान कथुरिया, दिवजोत सिंह, अरनव सिंगला, मेहुत सिंगला, अनविता सिंगला, मनन, तेजस, अनन्या शर्मा, मोहरुप सिंह तथा करनवीर सिंह ने अभिनय किया। नाटक में संगीत राज निवाना तथा रवि कुमार ने दिया। इसके बाद रॉयल आर्ट फोक क्लब द्वारा फोक आर्केस्ट्रा भी प्रस्तुत किया गया। इस मौके पाली राम बांसल सीनियर मैनेजर मालवा ग्रामीण बैंक हेड ऑफिस संगरूर मुख्य मेहमान थे। जबकि प्रधानगी चंद्र प्रकाश बाधवा ईओ नगर काैंसिल धूरी ने की। अंत में सभी बच्चों को सम्मानित किया गया। दस मौके पर राम निवास शर्मा, राजिन्दर शर्मा, परमजीत कौशल, दिव्यांषु बांसल, आशुतोष शर्मा तथा पंकज सेठी उपस्थित थे।

रंगशाला थिएटर ग्रुप ने करवाया बग्गीखाना के मंच पर दो दिवसीय परमजीत गागा मेमोरियल थिएटर फेस्टिवल

संगरूर के राम वाटिका बग्गीखाना के मंच पर नाटक का मंचन करते कलाकार।

X
हामिद मेले से खिलौने की बजाय दादी के लिए लाया चिमटा...
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..