Hindi News »Punjab »Dhuri» शताब्दी रोक राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

शताब्दी रोक राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

एससी-एसटी एक्ट में संशोधन किए जाने के विरोध में भारत बंद के आह्वान पर शहर में दलित भाईचारे के लोगों द्वारा रोष...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 03, 2018, 02:20 AM IST

शताब्दी रोक राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन
एससी-एसटी एक्ट में संशोधन किए जाने के विरोध में भारत बंद के आह्वान पर शहर में दलित भाईचारे के लोगों द्वारा रोष प्रदर्शन किया गया। जिस कारण शहर पूरा दिन बंद रहा है। इस मौके पर बड़ी संख्या में दलित भाईचारे ने भगवान वाल्मीकि दलित चेतना मंच के राष्ट्रीय प्रधान विक्की परोचा के नेतृत्व में स्थानीय कक्ड़वाल चौक में करीब 2 घंटे तक धरना देकर यातायात को ठप किया गया। उन्होंने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का पुतला भी फूंका। उन्होंने एसडीएम अमरेश्वर सिंह को राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा। इसके उपरांत प्रदर्शनकारी रोष प्रदर्शन करते हुए रेलवे स्टेशन पर पहुंचे, वहां दिल्ली से वाया धूरी होकर लुधियाना जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस गाड़ी को स्टेशन पर रोक कर रोष प्रदर्शन किया गया। करीब 35 मिनट रेलगाड़ी रोकने के बाद रेलवे स्टेशन मास्टर मनोज कुमार को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा। इस मौके पर अजय परोचा एमसी, सूबेदार मेजर दर्शन सिंह, अमरजीत कौर धांदरा, केजी भास्कर, सुखपाल सिंह बुर्ज, कुलदीप सिंह पुनांवाल, हरदेव सिंह कक्ड़वाल, रघुवीर सिंह धांदरा, केवल सिंह, गोगी सहोता, संजीव परोचा, राकेश कुमार आदि मौजूद थे। वहीं दूसरी तरफ कई स्थानों पर दुकानें जबरी बंद करवाए जाने के विरोध में व्यापारियों में रोष भी देखने को मिला। ऐसे में दुकानदारों ने सिटी पुलिस स्टेशन के समक्ष नारेबाजी भी की गई। इस मौके संजय बांसल, भारत भूषण जैन, राकेश गर्ग, तरसेम सिंगला का कहना है कि बंद के ऐलान को सरकारी समर्थन हासिल होने के चलते लोगों में पंजाब सरकार के प्रति भारी रोष पाया जा रहा है। (अमित)

विरोध

भारत बंद के आह्वान पर शहर में दलित भाईचारे ने किया प्रदर्शन

रेलवे स्टेशन पर रेल रोक कर रोष प्रदर्शन करते समय ज्ञापन दिखाते विक्की परोचा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhuri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×