• Home
  • Punjab News
  • Dhuri News
  • रेलवे विभाग के अधिकारी मनमाने ढंग से कर रहे नियुक्तियां, कर्मियों मंे रोष
--Advertisement--

रेलवे विभाग के अधिकारी मनमाने ढंग से कर रहे नियुक्तियां, कर्मियों मंे रोष

रेलवे के अधिकारियों द्वारा विभाग में मनमाने ढंग से की जा रही नियुक्तियों को लेकर रेलवे कर्मचारियों में भारी रोष...

Danik Bhaskar | Feb 05, 2018, 02:20 AM IST
रेलवे के अधिकारियों द्वारा विभाग में मनमाने ढंग से की जा रही नियुक्तियों को लेकर रेलवे कर्मचारियों में भारी रोष पाया जा रहा है। इस मामले को लेकर रेलवे के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए उत्तरीय रेलवे मजदूर यूनियन ने अपनी कड़ी नाराजगी जाहिर की है। यूनियन की धूरी शाखा के सचिव वेद प्रकाश पहलवान ने बताया कि रेलवे के सहायक अभियंता इंजीनियर पटियाला द्वारा विभाग में ट्रैकमैन के तौर पर काम करने वाले एक कर्मचारी को तबदील करके कारपेंटर बना दिया गया था। उक्त अधिकारी को ऐसा करने का कोई अधिकारी नहीं था तथा यह नियुक्ति गैर कानूनी ढंग से नियमों को दरकिनार करके की गई थी। जब इस मामले को यूनियन द्वारा डीआरएम अंबाला डिवीजन के ध्यान में लाया गया तो उनके द्वारा इस मामले की जांच के लिए तीन सदस्यों की कमेटी गठित की गई थी। उक्त कमेटी द्वारा सौंपी गई जांच रिपोर्ट को पढ़ने के बाद डीआरएम अंबाला डिवीजन द्वारा इस नियुक्ति को गैर वाजिब करार देते हुए उक्त कर्मचारी की नियुक्ति बतौर ट्रैकमैन करने के आदेश जारी किए गए थे। उक्त आदेशों पर सहायक अभियंता इंजीनियर पटियाला द्वारा उक्त कर्मचारी की नियुक्ति फिर से बतौर ट्रैकमैन करने के आदेश जारी कर दिए गए थे। इस कर्मचारी के कारपेंटर से पुन: ट्रैकमैन के तौर पर पद संभालने के आदेश उसकी गैर हाजिरी में विभाग द्वारा उसके घर के बाहर दरवाजे पर चिपका कर कानूनी तौर पर उसे रिसीव करवा दिया गया था। लेकिन उक्त कर्मचारी से अभी भी विभाग में बतौर कारपेंटर ही काम करवाया जा रहा है। उत्तरीय रेलवे मजदूर यूनियन ने उक्त पूरे मामले की विजिलेंस से जांच करवाने तथा अपने पद का दुरुपयोग करके गैर कानूनी ढंग से नियुक्तियां करने वाले अधिकारियों के खिलाफ बनती कार्रवाई किए जाने की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि उन्हें इंसाफ न मिला तो वह किसी भी तरह के संघर्ष से पीछे नहीं हटेंगे।

इन आरोपों संबंधी जब रेलवे के सीनियर सेक्शन इंजीनियर (वर्कस) राकेश गुप्ता से संपर्क किया गया तो उन्होंने मौजूदा समय में उक्त कर्मचारी से बतौर कारपेंटर काम करवाए जाने से साफ इनकार कर दिया। किया है। (राजेश टोनी)

उक्त कर्मचारी के घर के दरवाजे पर आदेशों की काॅपी चिपकाने की तस्वीर।