• Home
  • Punjab News
  • Dhuri News
  • यूथ कांग्रेस ने बजट की प्रति जलाकर जताया रोष
--Advertisement--

यूथ कांग्रेस ने बजट की प्रति जलाकर जताया रोष

रविवार को यूथ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने ककड़वाल चौक में केंद्र सरकार की ओर से पेश किए गए बजट की कॉपियां जलाकर...

Danik Bhaskar | Feb 05, 2018, 02:20 AM IST
रविवार को यूथ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने ककड़वाल चौक में केंद्र सरकार की ओर से पेश किए गए बजट की कॉपियां जलाकर विरोध किया। यूथ कांग्रेसियों ने कुछ समय के लिए ककड़वाल चौक में आवाजाही बाधित करते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। मिट्ठू लड्डा ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार देश के लोगों को बनती सुविधाएं देने में नाकाम साबित हुई है। लोगों को अच्छे दिनों का सपना दिखा कर भाजपा केन्द्र में सत्ता पर काबिज तो हो गई, लेकिन अच्छे दिनों की बजाए लोगों को बुरे दिन देखने पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि महंगाई अपनी चरम सीमा पर है। एक आम आदमी को अपने घर का चूल्हा तक चलाने के लिए भी कर्ज लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा पेश किए गए अपने अंतिम पूर्ण बजट में किसी भी वर्ग को कोई सुविधा नहीं दी गई है तथा यह बजट जन विरोधी बजट साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि नोट बंदी और जी.एस.टी की मार झेल रहे लोगों को आशा थी कि केन्द्र सरकार के इस आखिरी बजट में सरकार उन्हें कुछ राहत देगी, लेकिन ऐसा ना होने के कारण लोगों में भारी निराशा पाई जा रही है। इस मौके यूथ इंचार्ज किन्दा पूर्व सरपंच, सुखविंदर सिंह पूर्व सरपंच हरचंदपुर, बहादुर सिंह नंबरदार, शमशेर सिंह कंधारगढ़, हिमांशु धूरी, हरजीत बब्बी, कुलविंदर बिल्ला, विक्की गिल, अली लड्डा, लवली सिंह, डाॅ. मनु शारदा तथा सौरव धूरी आदि भी मौजूद थे। (राजेश टोनी)

केन्द्र सरकार के पेश किए गए बजट की धूरी में कापियां जलाकर नारेबाजी करते कांग्रेसी कार्यकर्ता।

नौजवानों व किसानों के लिए अलग बजट होना था : गागा

लहरागागा |यूथ कांग्रेसियों ने प्रधान जगदेव गागा की अगुवाई में शहर के तर्क चौक में केंद्र सरकार के बजट की कॉपियां फूंक मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। इस मौके जगदेव गागा ने कहा कि बजट में नौजवानों व किसानों के लिए कुछ खास नहीं रखा गया है। नौजवानों व किसानों के लिए अलग बजट बनाना चाहिए था। इस मौके पुषपिंदर गुरू, गुरदीप झंडू, गुरदास गागा, राजिंदर गागा, काली छाजली, राजवीर, गगन लदाल, रचना छाजला मौजूद थे। (वरिंदर)