• Home
  • Punjab News
  • Dhuri News
  • हाईड्राफट भट्ठे की तकनीक को अपनाने में असमर्थ मालिक : सेखों
--Advertisement--

हाईड्राफट भट्ठे की तकनीक को अपनाने में असमर्थ मालिक : सेखों

जिला संगरूर भट्ठा मालिक एसोसिएशन की बैठक जिला प्रधान हरविंदर सिंह सेखों की प्रधानगी में हुई। इस मौके सेखों ने कहा...

Danik Bhaskar | Feb 05, 2018, 02:25 AM IST
जिला संगरूर भट्ठा मालिक एसोसिएशन की बैठक जिला प्रधान हरविंदर सिंह सेखों की प्रधानगी में हुई। इस मौके सेखों ने कहा कि सरकार व केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड के आदेश के अनुसार पंजाब के सभी भट्ठा मालिकों को पुरानी टेकनोलॉजी बदलकर हाईड्राफट भट्ठे बनाने के लिए कहा गया है लेकिन भट्ठा मालिक इस सरकारी आदेश को मानने में असमर्थ हैं क्योंकि इस तकनीक को अपनाने के लिए भट्ठा मालिकों को कम से कम 40 लाख रुपए खर्च करने पड़ेंगे।

जबकि भट्ठा उद्योग तो पहले ही घाटे में चल रहा है। ऐसे में भट्ठा मालिक यह खर्च करने में असमर्थ हैं इसलिए भट्ठा मालिक एसोसिएशन ने फैसला किया है कि जिले के सभी भट्ठे सीजन के बीच में ही 30 अप्रैल को बंद कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस तकनीक को अपनाने के लिए न तो सरकार आर्थिक सहायता दे रही है व न कोई बिना ब्याज पर लोन दिया जा रहा है तथा न ही किसी सब्सिडी का प्रबंध है। जिन भट्ठा मालिकों ने यह तकनीक अपना रखी है उन्हें भी भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इस तकनीक को अपनाने के लिए थ्री फेस बिजली के कनेक्शन की जरूरत है लेकिन बिजली बोर्ड के अधिकारी लाखों रुपए का एस्टीमेट बनाकर भट्ठा मालिकों के हाथ में थमा देते हैं। ऊपर से हजारों रुपए रिश्वत की मांग भी की जाती है। उन्होंने मांग की कि भट्ठा मालिकों को आर्थिक सहायता या सब्सिडी व ब्याज मुक्त लोन दिया जाए तथा बिना किसी खर्चे के बिजली कनेक्शन दिया जाए तभी भट्ठा मालिक यह तकनीक अपनाएंगे। इसके अलावा उन्होंने मांग की कि भट्ठा उद्योग को जीएसटी में ई वे बिल से मुक्त किया जाए, भट्ठों से माइनिंग एकट हटाया जाए, बिल्डिंग, सड़कों, नहरों, गलियों आदि में ईंटें लगाने के आदेश जारी किए जाएं, भट्ठों पर लागू लेबर कानून में सुधार किया जाए व बंधुआ मजदूर कानून वापस लिया जाए। मौके पर मालेरकोटला प्रधान दुर्गा प्रसाद, धूरी प्रधान दुनी चंद, संगरूर प्रधान मदन लाल लौंगोवालिया, सुनाम प्रधान जसपाल सिंह, दिड़बा प्रधान शुभकरन शर्मा, लहरा मूनक प्रधान दीपक बब्बू, विजय, नरिंदर सिंह मौजूद थे।