• Home
  • Punjab News
  • Dhuri News
  • मार्कफेड दफ्तर में बारदाना लोड करने आए पूर्व मंत्री के 4 ट्रकों में तोड़-फोड़
--Advertisement--

मार्कफेड दफ्तर में बारदाना लोड करने आए पूर्व मंत्री के 4 ट्रकों में तोड़-फोड़

मार्कफेड दफ्तर में बारदाना लोड करने आए पूर्व मंत्री सुरिंद्र सिंह धूरी के 4 ट्रकों की व्यक्तियों द्वारा तोड़-फोड़...

Danik Bhaskar | Apr 14, 2018, 02:10 AM IST
मार्कफेड दफ्तर में बारदाना लोड करने आए पूर्व मंत्री सुरिंद्र सिंह धूरी के 4 ट्रकों की व्यक्तियों द्वारा तोड़-फोड़ कर दी गई है। सुरिंद्र सिंह ने इस तोड़-फोड़ को हलका विधायक, मार्कफेड के प्रबंधक तथा पुलिस की शह पर की गई गुंडागर्दी करार दिया है। पूर्व मंत्री द्वारा लगाए गए इन आरोपों को हलका विधायक, मार्कफेड प्रबंधक और थाना प्रमुख ने झूठे व बेबुनियाद बताया है।

पूर्व मंत्री सुरिंद्र सिंह धूरी ने बताया कि यह तोड़-फोड़ गत दिनों धक्के से ट्रक यूनियन के प्रधान के पद पर काबिज होने की कोशिश करने वाले हलका विधायक धूरी के चहेते ट्रक आपरेटर नेता के साथियों द्वारा की गई है। नियमानुसार धूरी मार्केट कमेटी के अधीन आती सभी अनाज मंडियों के 8 किलोमीटर के दायरे में आती सभी खरीद एजेंसियों की ढुलाई के टेंडर उनके ग्रुप के लक्खा सिंह निवासी घन्नौरी कलां, बिक्कर सिंह तथा निर्भय सिंह अलीपुर के हक में अलाट हुए हैं। जिसके तहत उन्होंने शुक्रवार को अपने ट्रक खरीद एजेंसियों के स्थानीय दफ्तरों में बारदाना लोढ करने के लिए भेजे थे। विरोधी पक्ष के कुछ ट्रक आप्रेटरों द्वारा जहां मार्कफेड दफ्तर में खड़े उनके दो ट्रकों के साथ तोड़-फोड़ की गई है, वहीं पंजाब एग्रो में खड़े एक ट्रक तथा पनग्रेन दफ्तर में बारदाना उठाने जा रहे ट्रक की दोहला वाले फाटकों के नजदीक तोड़-फोड़ की गई है। इस घटना दौरान उनके ट्रक का एक चालक भी घायल हो गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह घटनाक्रम स्थानीय विधायक, मार्कफेड के मैनेजर तथा स्थानीय पुलिस प्रशासन की शह पर अंजाम दिया गया है। इस तोड़-फोड़ व गुंडागर्दी के लिए जिम्मेवार व्यक्तियों के खिलाफ बनती कार्रवाई किए जाने की भी मांग की। (राजेश टोनी)

धूरी में मामले की जानकारी देते हुए प्रदेश के पूर्व मंत्री सुरिन्द्र सिंह धूरी।

आरोप गलत, छवि खराब करने की साजिश : गोल्डी

विधायक दलवीर सिंह गोल्डी ने आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताते हुए इसे अपनी छवि धूमिल करने की एक साजिश करार दिया है। एसएचओ सिटी धूरी राजेश स्नेही ने कहा कि इस मामले की सूचना मिलते ही फौरन एक्शन लेेते हुए स्थिति को काबू में किया है। इधर, मार्कफेड के मैनेजर महिन्द्र सिंह ने भी आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि घटना के समय तो वह मार्केट कमेटी दफ्तर धूरी में हो रही एक मीटिंग में शामिल होने के लिए गए हुए थे। वहीं ट्रक आप्रेटरों के दूसरे धड़े की प्रतिनिधता करने वाले जगजीत सिंह राए ने कहा कि इस घटना से उनका कोई सरोकार नहीं है, बल्कि वह तो चंडीगढ़ में है।

धूरी में क्षतिग्रस्त हुए ट्रक।