Hindi News »Punjab »Dhuri» मंडी में गेहूं की अनलोडिंग नहीं होने से नाराज आढ़तियों ने की नारेबाजी

मंडी में गेहूं की अनलोडिंग नहीं होने से नाराज आढ़तियों ने की नारेबाजी

मंडी में सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा खरीदी गई गेहूं की अनलोडिंग न होने से नाराज आढ़तियों व मजदूरों ने वीरवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 27, 2018, 02:20 AM IST

मंडी में सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा खरीदी गई गेहूं की अनलोडिंग न होने से नाराज आढ़तियों व मजदूरों ने वीरवार को आढ़तिया एसोसिएशन के प्रधान जगतार सिंह का नेतृत्व में रोष मार्च निकालकर मार्केट कमेटी के स्थानीय कार्यालय के सामने धरना लगाया। इस दौरान पंजाब सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की गई। इस मौके पर प्रधान जगतार सिंह ने कहा कि 10 अप्रैल से खरीद की गई गेहूं में से अब तक केवल 25 प्रतिशत गेहूं की ही अनलोडिंग हुई है।

उन्होंने कहा कि ऐसा संबंधित ठेकेदार के पास लेबर की कमी के कारण हो रहा है। उन्होंने कहा गेहूं अनलोडिंग नहीं होने के कारण लोडिंग का काम भी प्रभावित हो रहा है। इस कारण मंडी में भरी जा चुकी गेहूं के बारदाने में दीमक लगनी शुरू हो गई है तथा गेहूं भी खराब हो रही है। उन्होंने कहा कि इस संबंधी कई बार प्रशासन और संबंधित खरीद एजेंसियों के अधिकारियों को अवगत करवाए जाने के बावजूद इस समस्या का कोई हल नहीं निकाला गया है। उन्होंने बताया कि आढ़तियों के पास लोडिंग के लिए लेबर पर्याप्त हैं तथा उनकी लेबर बेकार बैठने को मजबूर हैं। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि अनलोडिंग का काम भी आढ़तियों के लेबर को दिया जाए या फिर अनलोडिंग के काम में तेजी लाई जाए। प्रदर्शनकारियों को मनाने पहुंचे एसडीएम अमरेश्वर सिंह ने रोजाना 60 हजार थैलों की अनलोडिंग होने का भरोसा देकर प्रदर्शन समाप्त करवाया। इस मौके पर पूर्व प्रधान हजारी लाल गर्ग, विपन कांझला, खरैती राम बांसल, बिमल मुनि शर्मा, प्रवीण कुमार, चमकौर सिंह, हरविंदर शर्मा, जाग सिंह सरपंच, मलकीत सिंह जलान व हरदेव बड़ैच भी मौजूद थे। (अमित जिंदल)

धूरी में अनलोडिंग न होने से नाराज आढ़तिये मार्केट कमेटी के सामने नारेबाजी करते हुए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhuri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×