• Home
  • Punjab News
  • Dhuri News
  • सड़क हादसे में मौत का शिकार सूरज कई जिंदगियों में उजाला कर गया
--Advertisement--

सड़क हादसे में मौत का शिकार सूरज कई जिंदगियों में उजाला कर गया

भास्कर संवाददाता|मालेरकोटला सड़क हादसे में जख्मी नौजवान सूरज (21) ने पीजीआई चंडीगढ़ में मरने से पहले तीन...

Danik Bhaskar | May 13, 2018, 02:20 AM IST
भास्कर संवाददाता|मालेरकोटला

सड़क हादसे में जख्मी नौजवान सूरज (21) ने पीजीआई चंडीगढ़ में मरने से पहले तीन जिंदगियों को नया जीवन दिया है। सूरज के पिता राम अवतार ने बताया कि 28 अप्रैल की रात मालेरकोटला-धूरी मुख्य मार्ग पर एक तेज रफ्तार पिकअप गाड़ी ने उसके बेटे सहित दो और नौजवानों को टक्कर मार दी थी, जिसमें राजीव कुमार (28) व कर्मवीर (22) की मौके पर ही मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि सूरज को पहले पटियाला ले जाया गया जहां से उसे चंडीगढ़ पीजीआई के लिए रेफर कर दिया गया था, जहां पर 5 मई को एक हफ्ते से कोमा में पड़े सूरज को पीजीआई की इंटर्नल कमेटी ने 11 बजे ब्रेन डेड घोषित कर दिया। जिस कारण उन्होंने अपने बेटे के तीन अंग जरूरतमंद मरीजों को दान देने का फैसला किया। उन्होंने बताया कि सूरज के गुर्दे, पैनक्रिया व लीवर जरूरतमंद मरीजों को लगा दिए गए हंै।

उन्होंने बताया कि वह पिछले 20 वर्षों से रिक्शा चला कर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे थे। सूरज फर्श रगड़ाई का काम करके घर को चलाने में उनका साथ देता था। उनके लिए अपने बेटे के अंग दान करने का फैसला एक परीक्षा की घड़ी थी, परंतु डाॅक्टरों के य|ों के बावजूद बेटे की अटल मौत को देखते हुए अपने बेटे के तीन अंग जरूरतमंद मरीजों को देकर जिंदगी बचाने का फैसला लिया ।

मालेरकोटला में जानकारी देते मृत सूरज के पिता राम अवतार।