Hindi News »Punjab »Dhuri» दाढ़ी-बाल नहीं कटाए तो हेयर ड्रेसर ने साथी के साथ मिल जहर दे मारा

दाढ़ी-बाल नहीं कटाए तो हेयर ड्रेसर ने साथी के साथ मिल जहर दे मारा

दो युवकों ने गांव के ही एक युवक को जहर देकर मौत के घाट उतार दिया है। मृतक के पिता का आरोप है कि बेटा एक आरोपी की दुकान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 02:20 AM IST

  • दाढ़ी-बाल नहीं कटाए तो हेयर ड्रेसर ने साथी के साथ मिल जहर दे मारा
    +1और स्लाइड देखें
    दो युवकों ने गांव के ही एक युवक को जहर देकर मौत के घाट उतार दिया है। मृतक के पिता का आरोप है कि बेटा एक आरोपी की दुकान से अपनी दाढ़ी और बाल नहीं कटवाता था। जिस कारण उसके बेटे की हत्या कर दी गई है। आरोपी बेटे को घर से काम का बहाना बनाकर लेकर गए थे। पुलिस ने मृतक के पिता के बयानों पर दोनों आरोपी युवकों के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

    रणजीत सिंह निवासी मोमनाबाद की ओर से पुलिस को बताया गया है कि उसका बेटा जगदीप सिंह (22) पास ही धागा फैक्ट्री में काम करता है। गांव के ही दो लड़के उसके बेटे जगदीप सिंह को 3 जुलाई की सुबह घर से काम जाने की बात कर मालेरकोटला के लिए लेकर गए थे। बेटे के घर नहीं लौटने पर उसने 4 जुलाई को पुलिस को शिकायत दे दी थी। बेटे की काफी तलाश की गई परंतु बेटे का कुछ पता नहीं चला। इस दौरान उसके बेटे की लाश गांव दुलवां में ग्रिड पास खाली जगह पर मिली। उन्हें बेटे की मौत का कोई कारण समझ में नहीं आ रहा था। बेटे की मौत के कारण परेशान भी था। ऐसे में पुलिस को बताया कि वह बेटे की मौत पर बाद में बयान देगा। रणजीत सिंह ने बताया कि उन्हें सोशल मीडिया पर बेटे की आखिरी तस्वीर दिखाई दी। जिसमें उसके साथ गांव के युवक परमिंदर सिंह उर्फ पाली और परवेज खां थे। परवेज खां हेयर ड्रेसर का काम करता है जबकि परमिंदर कोई काम नहीं करता है। बुधवार को परमिंदर सिंह और परवेज खां उसके भतीजे अमृतपाल सिंह के पास जाकर बताया कि उनसे गलती हो गई है। उन्होंने जगदीप सिंह को जहर देकर मार दिया है। वह माफी मांगना चाहते थे। उन्होंने आरोप लगाया कि बेटा जगदीप सिंह अपनी दाढ़ी और बाल परवेज खां की दुकान से नहीं कटवाता था। जिसकी रंजिश परवेज अपने दिल में रखता था। इसी कारण उन्होंने उसके बेटे को जहर देकर मौत के घाट उतार दिया है।

    जगदीप सिंह की मौत पर अफसोस करते परिजन।

    तीन भाइयों में सबसे छोटा था जगदीप

    जगदीप सिंह परिवार में सबसे छोटा है। मृतक के दो बड़े भाई हैं। जिनमें एक की शादी हो चुकी और दूसरा अविवाहित है। एक भाई सउदी अरब और दूसरा भाई कुवैत में काम करता है। जगदीप सिंह घर पर ही माता-पिता की देखरेख भी करता था। फैक्ट्री में रात की ड्यूटी करता था।

    आरोपियों के पकड़े जाने के बाद कई बातें सामने आने की उम्मीद : एसएचओ

    अहमदगढ़ पुलिस थाने के एसएचओ इंस्पेक्टर कुलविंदर सिंह का कहना है कि आरोपी मृतक से रंजिश करते थे। जिनके पकड़ने जाने के बाद कई बातों का खुलासा होगा। पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए रेड कर रही है।

    दो महीने में छठा मर्डर

    जिले में पिछले दो माह में यह छठा मर्डर है। इससे पहले 23 मई को संगरूर के मैगनम पैलेस के 45 वर्षीरू प्रवासी महिला जोखनी की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। 23 मई को ही गांव दुंगा में विवाहिता स्वर्णकौर की गला घोंट कर हत्या कर दी गई थी। 14 जून को मालेरकोटला के अवैध नशा मुक्ति केन्द्र में लुधियाना के रवि की हत्या कर दी गई थी। 22 जून को गांव छाहड़ में अजायब सिंह बजुर्ग की लकड़ी के बाल्ले से हत्या कर दी गई थी। 30 जून को धूरी में प्रवासी नौजवान का कत्ल कर उसकी लाश को कपडे में बांध बहते पानी में फेंक दिया गया था।

  • दाढ़ी-बाल नहीं कटाए तो हेयर ड्रेसर ने साथी के साथ मिल जहर दे मारा
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhuri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×