--Advertisement--

आरपीएफ कर्मी पर कार्रवाई कराने को धरना

रेलवे पुलिस फोर्स कर्मचारी और 4 अन्य अज्ञात व्यक्तियों द्वारा रेलवे स्टेशन पर एक समाजसेवी के साथ मारपीट करने व...

Danik Bhaskar | Apr 26, 2018, 02:25 AM IST
रेलवे पुलिस फोर्स कर्मचारी और 4 अन्य अज्ञात व्यक्तियों द्वारा रेलवे स्टेशन पर एक समाजसेवी के साथ मारपीट करने व उसका मोबाइल छीनने के रोष में समाजसेवी संस्थाओं के नेताओं और व्यापारियों ने धरना लगाया। जहां प्रदर्शनकारियों ने आरपीएफ चौकी धूरी के समक्ष नारेबाजी की वहीं शहर में रोष मार्च भी निकाला।

सहारा जनसेवा समिति धूरी के महासचिव वेद प्रकाश ने बताया कि वह मंगलवार रात करीब साढ़े 10 बजे रेलगाड़ी में बरनाला से धूरी आए थे। उन्होंने देखा कि आरपीएफ का एक कर्मचारी व अन्य कुछ अज्ञात व्यक्ति एक दिमागी तौर पर परेशान बुजुर्ग महिला का सामान उठा कर फेंक रहे थे, जिस पर कि उसने इन्हें ऐसा ना करने की अपील करते हुए कहा था कि उनकी संस्था इस बुजुर्ग महिला को सुबह पिंगलवाड़ा आश्रम में छोड़ आएगी। जब उसने उक्त महिला की तस्वीर खींचने के लिए मोबाइल निकाला, तो उक्त कर्मचारी ने न सिर्फ उसका मोबाइल छीन लिया बल्कि उसके साथ सादे कपड़ों में मौजूद कुछ अन्य साथियों ने मारपीट की।

इसी दौरान रेलवे स्टेशन पर उन्हें लेने आए उनके बेटे मियांशू गर्ग ने जब उनका बचाव करने की कोशिश की, तो उक्त व्यक्तियों ने उसके साथ भी मारपीट की। इसके रोष में बुधवार एकत्रित हुए यूथ नेता नवीन सेठ, जीवन लाल पप्पी पूर्व एमसी, नरेश कुमार मंगी सचिव पंजाब कांग्रेस, गुरकंवल सिंह कोहली, आशु गोयल, विनोद सेठ, यशपाल गोयल आदि ने आरपीएफ कर्मचारी की इस हरकत की कड़ी निंदा की तथा उसे फौरन बर्खास्त करने की मांग की। उन्होंने आरोपी कर्मचारी के खिलाफ मामला दर्ज करने की भी मांग की। आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर भरपूर सिंह ने प्रदर्शनकारियों को उनसे मिली लिखित शिकायत को उच्चाधिकारियों के पास भेज कर बनती कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों द्वारा अपना धरना समाप्त कर दिया गया। (अमित जिंदल)

लिखित शिकायत की कापी हासिल करते आरपीएफ के सब इंस्पेेक्टर भरपूर सिंह।