Hindi News »Punjab »Dhuri» गौशालाओंं के बिजली बिल माफ न किए तो विधायकों के घर छोड़े जाएंगे बैल : कृष्णा नंद

गौशालाओंं के बिजली बिल माफ न किए तो विधायकों के घर छोड़े जाएंगे बैल : कृष्णा नंद

गौसेवा मिशन के प्रमुख स्वामी कृष्णा नंद महाराज ने सरकार को शीघ्र समूचे पंजाब की गौशालाओं के बिजली बिल माफ करने तथा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 30, 2018, 02:25 AM IST

गौशालाओंं के बिजली बिल माफ न किए तो विधायकों के घर छोड़े जाएंगे बैल : कृष्णा नंद
गौसेवा मिशन के प्रमुख स्वामी कृष्णा नंद महाराज ने सरकार को शीघ्र समूचे पंजाब की गौशालाओं के बिजली बिल माफ करने तथा उनकी अन्य मांगों की ओर ध्यान देने की मांग की है। उन्होंने ऐसा न होने की सूरत में राज्य के मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्रियों, विधायकों के साथ-साथ जिला व स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों के घरों पर विदेशी नस्ल की गाय व बैल छोड़ने का ऐलान भी किया। उन्होंने यह विचार गौशालाओ के बिजली बिल माफ करवाने हेतू पंजाब गौशाला महासंघ की धूरी में हुई एक मीटिंग के उपरांत पत्रकारों से बातचीत के दौरान प्रगट किए।

इस मौके पर पंजाब गौशाला महासंघ के प्रधान रमेश गुप्ता व सरपरस्त महाशा प्रतिज्ञा पाल ने कहा कि पूर्व अकाली-भाजपा सरकार द्वारा गौशालाओं को बिजली मुफ्त दी गई थी तथा गौसेवा हेतू फंड इकट्ठा करने के लिए कई वस्तुओं पर गौ सैस भी लगाया गया था। पंजाब गौशाला महासंघ ने ऐलान किया कि यदि 15 जुलाई तक उनकी उक्त मांगों की ओर कोई ध्यान ना दिया गया, तो गौशालाओं में रखी गई जर्सी गायों व बैल को गाड़ियों में भरकर मुख्यमंत्री सहित विधायकों व प्रशासनिक अधिकारियों की रिहायश पर छोड़ दिया जाएगा। इसके उपरांत स्वामी कृष्णा नंद महाराज ने शहर की एकता विहार कालोनी की वेलफेयर कमेटी के प्रधान संजय सिंगला के निवास पर भावी योजना हेतू विचार-विमर्श भी किया। इस मौके पर धूरी गौशाला कमेटी के प्रधान हजारी लाल गर्ग, संजय सिंगला उप प्रधान, दर्शन कुमार, वकील चंद बरनाला, चौधरी पवन वर्मा आैर कमल किशोर लवली आदि मौजूद थे। (राजेश टोनी)

धूरी में मीटिंग के उपरांत सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर करते गौ भक्त।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhuri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×