Hindi News »Punjab »Dhuri» पंचायती रिजर्व कोटे की जमीन की बोली साझे तौर पर कम रेट पर कराने की मांग

पंचायती रिजर्व कोटे की जमीन की बोली साझे तौर पर कम रेट पर कराने की मांग

धूरी में क्रांतिकारी ग्रामीण मजदूर यूनियन के नेता मांग पत्र देते हुए। भास्कर संवाददाता| धूरी पंचायती रिजर्व...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 03:25 AM IST

धूरी में क्रांतिकारी ग्रामीण मजदूर यूनियन के नेता मांग पत्र देते हुए।

भास्कर संवाददाता| धूरी

पंचायती रिजर्व कोटे की जमीन की बोली सांझे तौर पर कम रेट पर देने की मांग को लेकर वीरवार को क्रांतिकारी ग्रामीण मजदूर यूनियन की गांव ईसी ईकाई द्वारा बीडीपीओ दफ्तर में धरना लगाया गया। धरनाकारियों द्वारा पंजाब सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की गई। इस मौके क्रांतिकारी ग्रामीण मजदूर यूनियन के जिला नेता बलजीत सिंह, श्याम सिंह, निर्भय सिंह, बलविंदर सिंह आदि ने पंचायत अफसरों पर बोली देने मौके आवश्यक व जरूरी शर्तों की पूरी जानकारी न देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मजदूर वर्ग के साथ हर जगह पर धक्का किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वह सांझे तौर पर कम रेट पर पंचायती जमीन का तीसरा हिस्सा लेकर रहेंगे तथा फिर भले ही उन्हें किसी भी तरह के संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़े। उन्होंने कहा कि गांव ईसी का दलित भाईचारा सांझे तौर पर तथा कम रेट पर पंचायती जमीन के तीसरे हिस्से की बोली देना चाहता है तथा इस संबंधी हस्ताक्षर मुहिम चला कर बीडीपीओ धूरी को ज्ञापन भी दिया जा चुका है।

विरोध के चलते तोलावाल में जमीन की बोली रद

भास्कर संवाददाता | संगरूर

दलितों के विरोध के चलते गांव तोलावाल में रिजर्व कोटे की जमीन की बोली रद्द कर दी गई है। क्रांतिकारी पेंडू मजदूर यूनियन के जिला सचिव लखवीर लखोवाल,चमकौर सिंह ने कहा कि दलित मजदूर कम रेट पर जमीन की बोली लेना चाहते थे। परंतु बीडीपीओ ने पिछले वर्ष के मुकाबले बोली बढ़ाकर दी। जिसका मजदूरों ने विरोध किया। हालाकि मजदूर अमरीक सिंह, दियाल सिंह व बलौर सिंह ने सिक्योरिटी भी भर दी थी। परंतु रेट ज्यादा होने के कारण मजदूरों ने बोली देने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि जमीन कम दाम व संयुक्त तौर पर लेने के लिए हस्ताक्षर मुहिम भी शुरू की गई है।

संगरूर के गांव तोलावाल में नारेबाजी करते दलित मजदूर।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhuri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×